हरियाणा पुलिस की नशा तस्करों पर नकेल, भारी मात्रा में पकड़ी हेरोइन

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana
Chandigarh, 15 March, 2019
मादक पदार्थ की तस्करी करने वालों की धरपकड को जारी रखते हुए हरियाणा पुलिस द्वारा जिला अम्बाला से गुप्त सूचना के आधार पर दो कार सवार युवकों को काबू कर उसके कब्जे से 140 ग्राम हेरोइन बरामद की गई है।
पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि पकडे गये युवक की पहचान प्रेमनगर अम्बाला शहर निवासी गौरव उर्फ मन्नी व दीपक उर्फ बबलू के रूप मे हुई है।
सीआईए-1 अम्बाला की पुलिस टीम को गुप्त सूचना मिली कि उक्त दोनो आरोपी मादक पदार्थ तस्करी का कार्य करते हैं। इस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए थाना पडाव क्षेत्र में गांव शाहपुर, मछौण्डा डांगरी पुल के नजदीक जीटी रोड पर नाकाबंदी के दौरान आई-20 कार सवार उक्त आरोपियों की तलाशी ली तो, उनसे 140 ग्राम हेरोइन बरामद हुई। दोनों को तुरंत गिरफ्तार कर थाना पडाव में मामला दर्ज किया गया।
पकडे गये आरोपियों को अदालत में पेश किया गया जहां तीन दिन को पुलिस रिमांड मंजूर हुआ।
एक और मामले में  हरियाणा पुलिस की अपराध जांच शाखा द्वारा नशा तस्करों के खिलाफ लगातार की जा रही कारवाई के अंतर्गत जिला सिरसा से गश्त व चैंकिग के दौरान एक युवक को 25 ग्राम 60 मिली ग्राम हैरोईन के साथ काबू किया गया है।
पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने इस संबंध में आज यहां जानकारी देते हुए बताया कि पकड़े गए आरोपी की पहचान गुरविंद्र सिंह निवासी सिकंदरपुर के रूप में हुई है।
 प्रवक्ता ने बताया कि सीआईए की एक पुलिस टीम गश्त व चैकिंग के दौरान गांव सिकंदपुर क्षेत्र में मौजूद थी। इसी दौरान सामने से आ रहे युवक ने पुलिस पार्टी को देखकर वापिस मुडकर भागने की कोशिश की, तो शक के बिनाह पर उक्त युवक को काबू कर उसकी तलाशी लेने पर उसके कब्जा से 25 ग्राम 60 मिली ग्राम हैरोईन बरामद हुई।
एक अन्य मामले में, सीआईए डबवाली टीम ने गश्त व चैकिंग के दौरान गांव मसींता बस स्टैंड क्षेत्र से कार सवार एक व्यक्ति को काबू कर उसके कब्जे से 300 नशीली प्रतिबंधित गोलीयां व 18 शीशी प्रतिबंधित नशीली दवाई बरामद की है। पकड़े गये आरोपी की पहचान मनप्रीत सिहं निवासी गांव मसीता के रूप में हुई है।
दोनों आरोपियों के खिलाफ मादक पदार्थ अधिनियम एवं ड्रग्स व कोस्मेटिकस अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज कर सप्लायर की तलाश शुरू कर दी है। आरोपियों को अदालत में पेश कर रिमांड हासिल किया जाएगा। रिमांड अवधि के दौरान इस नेटवर्क से जुड़े अन्य लोगों की पहचान कर उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *