हरियाणा पुलिस के दो कर्मचारियों ने किया बड़ा घोटाला, अब तीन दिन में रिमांड पर खुलेंगे राज

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Kamarjeet Virk, Karnal

करनाल में एसपी ऑफिस की अकाउंट ब्रांच में पुलिसकर्मियों के (ट्रैवलिंग अलाउंस) टीए के नाम पर 44 लाख 35 हजार 375 रुपए का फर्जीवाड़ा सामने आया था। 12 फरवरी को सीएम के नाम भेजी शिकायत डीजीपी को मिलने पर जांच की गई तो इसका खुलासा हुआ। एसपी सुरेंद्र सिंह भौरिया ने सिविल लाइन थाने में धोखाधड़ी समेत कई धाराओं में केस दर्ज कराया था ।

मामले में आरोपी एएसआई साहब सिंह और एएसआई राजबीर को कल ही गिरफ्तार कर लिया गया था। जबकि दो अन्य कर्मचारियों से पूछताछ की जा रही है। फर्जीवाड़े में पूरी अकाउंट ब्रांच के संलिप्त हाेने का संदेह जताया जा रहा है। एसपी ने इंद्री के डीएसपी रणधीर सिंह की अध्यक्षता में एसआईटी गठित की है, जो मामले की जांच कर रिपोर्ट एसपी को देंगे।

करनाल में एसपी ऑफिस की अकाउंट ब्रांच में पुलिसकर्मियों के (ट्रैवलिंग अलाउंस) टीए के नाम पर 44 लाख 35 हजार 375 रुपए का फर्जीवाड़ा सामने आया है। 12 फरवरी को सीएम के नाम भेजी शिकायत डीजीपी को मिलने पर जांच की गई तो इसका खुलासा हुआ। एसपी सुरेंद्र सिंह भौरिया ने सिविल लाइन थाने में धोखाधड़ी समेत कई धाराओं में केस दर्ज कराया है।

मामले में आरोपी एएसआई साहब सिंह और एएसआई राजबीर को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि दो अन्य कर्मचारियों से पूछताछ की जा रही है। फर्जीवाड़े में पूरी अकाउंट ब्रांच के संलिप्त हाेने का संदेह जताया जा रहा है। एसपी ने इंद्री के डीएसपी रणधीर सिंह की अध्यक्षता में एसआईटी गठित की है, जो मामले की जांच कर रिपोर्ट एसपी को देंगे।

पुलिस की इस मामले में किरकिरी हो रही है,सवाल ये उठता है कि पुलिस के अधिकारी आखिर क्यों चुप्पी साधे हुए हैं और क्यों अधिकारी इस केस में ऐसे बर्ताव कर रहे हैं जैसे पुलिसकर्मियों को झूठा फसाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *