रोडवेज का घाटा दूर करेगा चालान, ओवरलोड वाहन और गलत रूट पर चल रही बसों का कटेगा चालान

Breaking बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

Yuva Haryana

Chandigarh

करोड़ों रुपये के घाटे में चल रहे परिवहन विभाग को मुनाफे में लाने के लिए सरकार चालान को अब जरिया बनाने जा रही है। रोडवेज महाप्रबंधकों ने खर्चों में कटौती करते हुए ओवरलोड वाहनों और गलत रुट पर चल रही निजी बसों का चालान करने के निर्देश दिए गए हैं।

परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने रोडवेज महाप्रबंधकों की बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जब मैंने ओवरलोड वाहनों की चेकिंग के दौरान एक सप्ताह में दो करोड़ रुपये और एक घंटे में 30 लाख रुपये के चालान किए तो आप ऐसा क्यों नहीं कर सकते। अधिकारी निष्ठा से काम करें तो विभाग का घाटा कम हो सकता है।

वहीं पंवार ने कहा कि राज्य परिवहन का लाभ बढ़ाने के लिए उत्तर प्रदेश में बसों का रोटेशन बढ़ाया जाएगा। ऐसे मार्ग पता किए जाएं जहां लोड फैक्टर व लाभ अधिक हो। उन्होंने सभी जीएम को ट्रैफिक रिसिप्ट को बढ़ाकर 32 रुपये प्रति किलोमीटर करने, खर्चे कम करने, एडवांस बुकिंग और ईंधन बचाने के लिए ठोस कदम उठाने के निर्देश दिए।

परिवहन मंत्री ने कई डिपो महाप्रबंधकों को अच्छे कार्य के लिए सराहा तो कई को प्रदर्शन सुधारने की हिदायत दी। परिवहन मंत्री ने महाप्रबंधकों से आरटीए के साथ तालमेल कर गलत रूटों पर चल रही बसों के खिलाफ एक्शन लेने को कहा। यदि कोई आरटीए सहयोग नहीं करता तो मुख्यालय पर इसकी शिकायत करें। ऐसे वाहनों का फोटो वाट्स-एप के माध्यम से भेज सकते हैं।

फरीदाबाद, गुरुग्राम, अंबाला, सिरसा और नारनौल जैसे जिलों में ऐसी निजी बसों की भरमार हैं जिनका परमिट तो कहीं का हैं और वे चल कहीं और रहीं है। ऐसे में इन बसों का चालान काटा जाएं

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *