हरियाणा रोडवेज अब एक शहर से दूसरे शहर तक पहुंचाएंगी कोरियर और पार्सल, 4 हजार बसों में बनाए जाएंगे स्पेशल केबिन

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 25 feb, 2019

परिवहन विभाग अब यात्रियों को एक से दूसरे शहर तक कोरियर और पार्सल पहुंचाने का काम भी करेगा। जिसके लिए विभाग ने एजेंसी की तलाश शुरू कर दी है। करीब चार हजार बसों में कोरियर और पार्सल के लए स्पेशल कैबिन बनाए जाएंगे।

प्रदेश ही नहीं बल्कि दूसरे राज्य दिल्ली, पंजाब, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड और जम्मू तक हरियाणा रोडवेज की बसें चल रही है, जिसके चलते विभाग का कोई अतिरिक्त खर्चा नहीं आएगा। विभाग को उम्मीद है कि इस पॉलिसी का सबसे ज्यादा रिसपांस दिल्ली- चंडीगढ़ मार्ग पर मिलेगा। यहां विभाग की काफी बसें चलती है और समय भी कम लगता है।

विभाग बसों के जरिए कोरियर और पार्सल सप्लाई के लिए एजेंसी की तलाश कर रहा है, वही एजेंसी पूरा काम देखेगी। प्रदेश में करीब 4 हजार नॉन एसी बसें हैं। जो भी एजेंसी यह काम लेगी, वह रोडवेज के सबसे पीछे वाली सीट के नीचे बॉक्स बनाएगी। इस बॉक्स में पार्सल और कोरियर रखा जाएगा।

परिवहन विभाग ने एजेंसी की तलाश में अपनी टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है। उत्तर प्रदेश विभाग की ओर से यह काम करीब तीन साल पहले शुरू किया गया था। आरंभ में तो ज्यादा मुनाफा नहीं हुआ, लेकिन अब अच्छी खासी कमाई हो रही है।

2 साल के लिए होगा टेंडर

जो भी एजेंसी यह काम लेती है, लोडिंग और अनलोडिंग का काम उसी का होगा। सामान के डैमेज की जिम्मेवारी भी उसी की होगी। विभाग पहली बार 2 साल के लिए यह कांट्रेक्ट देगा।

हरियाणा रोडवेज की बसें हर रोज प्रदेश के अलावा सात अन्य राज्यों में जाती है। प्राइवेट कोरियर और पार्सल एजेंसियों को अपना पार्सल और कोरियर भेजने के लिए या तो स्पेशल आदमी संबंधित शहर में भेजना होता है या फिर निजी गाड़ी जाती है। ऐसे में एजेंसियों को भी कम खर्च में यह सुविधा मिल सकती है। प्रदेश में 24 डिपो और 12 सब डिपो हैं, जहां से कोरियर और पार्सल उठाया और पहुंचाया जा सकता है।

ये भी पढ़िये >>