हरियाणा विधानसभा बजट सत्र, विपक्ष के निकले सवालों के तीरों पर असहज दिखा सत्ता पक्ष

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Chandigarh

हरियाणा में विधानसभा के बजट सत्र की सोमवार को शुरू हुई कार्यवाही में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा हुई। इसी दौरान विपक्ष की ओर से जमकर हंगामा किया गया। आपको बता दें कि विपक्षी विधायकों ने सरकार पर जमकर हमला किया स्वास्थ्य, अवैध खनन, पानी, बिजली, नशा, ओवरलोडिंग साथ ही विकास की योजनाओं को लेकर भी सवाल पूछे गए।

वहीं अवैध खनन के मामले में खनन मंत्री मूलचंद शर्मा ने जवाब दिया, लेकिन इसके बाद संसदीय कार्य मंत्री कंवरपाल गुर्जर अकेले ही जवाब देते दिखे। अन्य मंत्रियों का उन्हें सहयोग नहीं मिला। अनिल विज भी एक-दो मामलों में ही खड़े दिखाई दिए। हालांकि उनके महकमे से संबंधित ज्यादा मुद्दे नहीं उठे।  वहीं पानी पर कांग्रेस विधायक मोहम्मद इलियास ने कहा कि मेवात क्षेत्र में टेल तक पूरा पानी नहीं पहुंच रहा है।

शराब नीति पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने सवाल उठाए तो विपक्ष ने भी सरकार को घेर लिया। कांग्रेस विधायक रावदान सिंह ने कहा कि एक तरफ सरकार दस फीसदी ग्रामीणों की सहमति पर ठेके बंद करने की बात कह रही है और दूसरी तरफ एक हजार रुपए में शराब का लाइसेंस दे रही है। इस पर सत्ता पक्ष की ओर से महिपाल ढांडा और असीम गोयल ने जवाब दिया। हंगामा भी हुआ। दानसिंह ने पेंशन में 250 रुपए की पेंशन बढ़ोतरी पर भी चुटकी है।

सदन में जजपा विधायक नैना चोटाला ने कहा कि बाढड़ा हलके में पानी की काफी समस्या है। इलाके के एक गांव में तो ग्रामीणों ने पानी की समस्या की वजह से पिछली बार वोटिंग का बहिष्कार तक किया था। बाढड़ा क्षेत्र में एनएच पर जमीन के मामले को लेकर लोग धरने पर बैठे हैं। कइयों की मौत हो चुकी है। सरकार इस मसले को सुलझाए। सड़क पर कालका से विधायक प्रदीप चौधरी ने कालका के रोड की हालत खराब है। पेचवर्क तक नहीं हो रहे हैं। मेवा सिंह ने कहा कि करनाल से लाडवा तक फोरलेन सड़क नहीं बनी है। माइनिंग की वजह से बड़े वाहन लाडवा कस्बे से होकर गुजरते हैं। सड़क पूरी टूट चुकी है। इसलिए बाईपास बनाया जाए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *