हरियाणा विधानसभा के स्पीकर चुने गए यह नेता, जानिये

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 04 Nov, 2019

हरियाणा के पंचकूला से दूसरी बार विधायक बने ज्ञान चंद गुप्ता विधानसभा अध्यक्ष चुना गया है। 14वीं विधानसभा के लिए वे सर्वसम्मति से स्पीकर चुने गए। ज्ञान चंद गुप्ता चंडीगढ़ के मेयर रह चुके हैं। 71 वर्षीय ज्ञानचंद गुप्ता भाजपा के सबसे बुजुर्ग विधायक हैं। इस दौरान हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने कहा कि सबको साथ लेकर चलेंगे। राजनीतिक मान्यता से ऊपर उठकर सदन को चलाएंगे। एक सदस्य की कमी तो सदन में महसूस होगी लेकिन सबको साथ लेकर चलेंगे तो वह महसूस नहीं हो पाएगी।

सभी सदस्यों से आग्रह है कि सदन को गरिमा अनुसार चलाएंगे। सीएम ने स्पीकर चुने जाने पर सदन में कहा कि 44 सदस्य पहली बार चुनकर आए, 30 सदस्य पिछले सदन से आए हैं। 9 महिला विधायक चुनकर आईं। वहीं डिप्टी सीएम सबसे कम आयु के सदस्य। रघुबीर कादियान व अनिल विज 6-6 बार चुनकर आए। संदीप सिंह खेल जगत से राजनीति में आए। सभी विधायक अपने क्षेत्र के साथ प्रदेश स्तरीय मुद्दे भी उठाएं। प्रोटेम स्पीकर बनाए गए रघुबीर कादियान ने सभी 90 विधायकों को शपथ दिलवाई। तीन दिन चलने वाला विधानसभा सत्र दोपहर 2 बजे शुरू हुआ। बड़ी बात यह है कि चौदहवीं विधानसभा में 43 ऐसे नए सदस्य हैं, जिन्होंने पहली बार विधानसभा में कदम रखा है। इस बार विपक्षी पार्टी कांग्रेस मजबूत स्थिति में है। उसके 31 विधायक हैं जबकि भाजपा की सरकार जजपा के सहयोग से बनी है। ऐसे में दो दिन पूर्व ही कांग्रेस की पहले दिन से ही सरकार को घेरने की रणनीति बन चुकी है। इसके लिए भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार को भी तैयार रहना होगा। खासकर कांग्रेस बेरोजगारी, किसान की दशा और अपराध को लेकर आक्रामक रहेगी।

कादियान और विज छठी बार बने विधायक
प्रोटेम स्पीकर कांग्रेसी विधायक रघुबीर सिंह कादियान सबसे बुजुर्ग विधायक होने के साथ वे सदन के छठी बार सदस्य बने हैं। वे लगातार पांच बार जीत दर्ज कर चुके हैं। उनके साथ ही छठी बार विधानसभा पहुंचने वाले दूसरे विधायक भाजपा के अनिल विज हैं। जबकि पांच बार विधायक बनने वाले भी तीन नेता हैं। इनमें भूपेंद्र सिंह हुड्डा,श्रीकृष्ण हुड्डा और जगबीर सिंह मलिक शामिल हैं। गीता भुक्कल,किरण चौधरी, अभय चौटाला,कुलदीप बिश्नोई,मोहम्मद इलियास व राव दान सिंह चौथी बार विधानसभा पहुंचने वाले विधायक हैं। इधर,सबसे युवाओं में उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला शामिल हैं। उनकी उम्र 31 साल है।

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने अपने दफ्तर में संभाला पदभार
डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने विधानसभा सत्र से पहले चंडीगढ़ हरियाणा सचिवालय में पदभार संभाला। दुष्यंत चौटाला, सीएम मनोहर लाल खट्टर के साथ सचिवालय की 5वीं मंजिल पर स्थित अपने दफ्तर में पहुंचे। यहां सीएम ने उन्हें कुर्सी पर बैठाया।

कांग्रेस और भाजपा विधायक दल की हुई बैठक
सत्र से पहले भाजपा और कांग्रेस विधायकों की अलग-अलग बैठक हुई। दोनों पार्टियों ने विधानसभा सत्र को लेकर आगामी रणनीति बनाई। भाजपा विधायकों की बैठक सीएम आवास पर हुई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *