हरियाणा को मिली केन्द्रीय बलों की 65 कंपनियां, 50 हजार जवान भी चुनाव ड्यूटी में होगें तैनात 

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 12 April, 2019

हरियाणा में लोकसभा आम चुनाव 2019 के दौरान स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण तरीके से मतदान सुनिष्चित करने के लिए राज्य पुलिस बल सहित केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की 65 कंपनियों को तैनात किया जाएगा।

हरियाणा पुलिस महानिदेशक डीजीपी मनोज यादव ने आज इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि केंद्र ने हरियाणा को 65 कंपनियां देने के लिए मंजूरी प्रदान की है। प्रदेष में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने में मदद करने के लिए सीमा सुरक्षा बल (बी.एस.एफ) की तीन कंपनियां पहले ही हरियाणा पहुंच चुकी हैं व दो और कंपनियां जल्द ही आ जाएंगी।

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की शेष कंपनियां पांचवें चरण के मतदान के बाद हरियाणा में चुनाव की कमान संभालेंगी। इसके अलावा, होमगार्ड और विशेष पुलिस अधिकारियों सहित राज्य पुलिस बल के 50,000 से अधिक जवान चुनाव प्रक्रिया के दौरान बेहतर कानून व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए चुनाव ड्यूटी में तैनात रहेंगे।

यादव ने कहा कि राज्य में निष्पक्ष और घटनामुक्त लोकसभा चुनाव सम्पन्न करवाने के लिए हर स्तर पर तैयारी चल रही है। जिला पुलिस प्रमुखों को अपने क्षेत्रों में संवेदनशील और अति संवेदनशील बूथों की पहचान करने के लिए कहा गया है। यह प्रकिया आने वाले कुछ दिनों में पूरी कर ली जाएगी।

हालांकि, किसी क्षेत्र की संवेदनशीलता स्थानीय कानून व्यवस्था की स्थिति, गुटबाजी और क्षेत्र में होने वाली आपराधिक गतिविधियों के आधार पर बदलती रहती है। हमारी टीमें लगातार हर चीज पर पैनी नजर रख रही हैं। उन्होने कहा कि मतदान से पहले, सभी जिलो में पुलिस और बी.एस.एफ की कम्पनियों द्वारा मतदाताओं में विश्वास और सुरक्षा की भावना को बनाये रखने के लिए फ्लैग मार्च निकाला जा रहा है।

डीजीपी ने कहा कि हरियाणा पुलिस पड़ोसी राज्यों के साथ लगातार संपर्क बनाए हुए हैं, ताकि अपराधियों और अन्य असामाजिक तत्वों के संभावित घुसपैठ को रोका जा सके। हमें पड़ोसी राज्यों से करीब 400 उद्घोषित अपराधियों व बेल जम्परों की सूची मिली है, जो हरियाणा से संबंध रखते हैं। हमारी पुलिस टीमें इनको पकड़ने के लिए लगातार छापेमारी कर रही हैं और हर रोज दर्जनों उद्घोषित अपराधियों, बेल जम्परों व पैरोल जंपर्स को काबू किया जा रहा है। इसके अलावा, प्रदेश की एसटीएफ भी संगठित अपराध से निपटने के लिए प्रभावी रूप से कार्य कर रही है।

पुलिस प्रमुख ने बताया कि प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र में शराब, मादक पदार्थों और नकदी के अवैध चलन पर अंकुश लगाने के लिए पर्याप्त संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है। खुफिया और अन्य इनपुट के आधार पर, पुलिस ने अब तक कुल 2,87,079 बोतल अवैध शराब व हेरोइन, अफीम, चूरा पोस्त, गांजा, स्मैक और चरस सहित 2920 किलो से अधिक मादक पदार्थ जब्त किया है।

आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद से पुलिस टीमों द्वारा 76,42,540 रुपये की नकदी भी जब्त की गई है। डीजीपी ने कहा कि लाइसेंसी हथियारों को जमा करने के निर्देश दिए जा चुके हैं, जिसके परिणाम स्वरूप 80,079 लाइसेंसी हथियार अब तक हरियाणा के विभिन्न पुलिस थानों में जमा करवाए गए हैं। इसके अतिरिक्त, पुलिस ने 284 अवैध और देशी हथियार भी जब्त किए हैं और करीब 250 लोगों को अवैध हथियार रखने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

यादव ने जनता से निडरता के साथ मतदान प्रकिया में अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने का आह्वान करते हुए कहा कि राज्य पुलिस प्रशासन ने हरियाणा प्रदेष में स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनावों के लिए पुख्ता प्रबंध किए है।

उल्लेखनीय है कि हरियाणा प्रदेश में 10 लोकसभा सीटों के लिए मतदान छठे चरण में 12 मई, 2019 को होगा।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *