तीखी आलोचना का शिकार हरियाणा की नई खेल नीति, बीरेंद्र सिंह भी खिलाड़ियों के पक्ष में उतरे

Breaking खेल चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा

Yuva Haryana
Chandigarh, 30 April, 2018

केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह कॉमनवेल्थ गेम्स में मेडल जीतकर आने वाले खिलाड़ियों के पक्ष में उतर आए हैं, उन्होने खिलाड़ियों को हरियाणा की तरफ से पूरी राशि देने की मांग की है।

बीरेंद्र सिंह ने हरियाणा सरकार की नई खेल नीति का विरोध करते हुए कहा कि खिलाड़ियों को पूरा मान सम्मान मिलना चाहिए, उन्होने कहा कि खिलाड़ियों के लिए जितनी राशि की घोषणा की गई है उतनी राशि मिलनी चाहिए।

26 अप्रैल को हरियाणा सरकार ने कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक जीतकर आए खिलाड़ियों को सम्मानित करने का फैसला लिया था लेकिन नई नीति के कारण खिलाड़ियों को इनामी राशि कटकर मिलनी थी जिसके चलते कई खिलाड़ियों ने सम्मान समारोह का विरोध किया था और इसी के चलते सरकार ने सम्मान समारोह को रद्द कर दिया था।

हरियाणा सरकार ने नई खेल नीति के तहत दूसरे राज्यों या फिर दूसरी कंपनी के तरफ से खेलने वाले खिलाड़ियों की इनामी राशि में कटौती की थी जिसके बाद खिलाड़ियों ने विरोध किया था।

नई खेल नीति के अनुसार दूसरी एजेंसी से मिलने वाली राशि को कम करके हरियाणा सरकार बाकी की रकम खिलाड़ियों को देने का मन बना रही थी।

चौधरी बीरेंद्र सिंह ने नई खेल नीति की आलोचना करते हुए कहा कि कोई भी खिलाड़ी किसी भी महकमे के लिए खेलते हो लेकिन वो हरियाणा के निवासी है, ऐसे में खिलाड़ियों के साथ दोगली नीति नहीं अपनानी चाहिए।

 

Read This News Also >>>>खुशखबरी: हरियाणा में होंगी इन पदों पर भर्तियां, जल्द करें अप्लाई

2 thoughts on “तीखी आलोचना का शिकार हरियाणा की नई खेल नीति, बीरेंद्र सिंह भी खिलाड़ियों के पक्ष में उतरे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *