Home Breaking 17 दिसंबर को गीता महोत्सव में हरियाणवी परिधान फैशन शो किया जाएगा आयोजित

17 दिसंबर को गीता महोत्सव में हरियाणवी परिधान फैशन शो किया जाएगा आयोजित

0
0Shares

Rakesh Pandit, Yuva Haryana

Chandigarh, 11 Dec, 2018

अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव में भारत के सांस्कृतिक झरोखों को देखकर पर्यटक भाव-विभोर हो गए। इस उत्सव के एक मंच पर ही भारत की लोक संस्कृति को देखा जा सकता है। इन लोक नृत्यों में पंजाब के जिंदवा ने पर्यटकों के सामने प्रस्तुति देकर खूब वाहवाही बटोरी है।

इस उत्सव में पंजाब, उत्तराखंड, हिमाचल, जम्मू-कश्मीर और राजस्थान के लोक कलाकारों ने जमकर पर्यटकों का मनोरंजन किया और सभी को अपने मोहपाश में बांध दिया। अहम पहलू यह है कि एनजेडसीसी 2 राज्यों के कलाकारों के साथ गीता जयंती में वर्ष 2002 में पहुंची थी, अब 17 सालों में 12 से ज्यादा राज्यों के कलाकार महोत्सव में शिरकत कर रहे हैं और लगातार पर्यटकों का मन मोह रहे हैं।

अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव-2018 में आगामी 17 दिसंबर को हरियाणा सांस्कृतिक दर्शन पंडाल में हरियाणवी लोक परिधानों पर आधारित हरियाणवी फैशन शो का आयोजन किया जाएगा। इस फैशन शो में हरियाणा के अलग-अलग लोक परिधानों को नये स्वरूप में प्रस्तुत किया जाएगा। यह जानकारी गीता महोत्सव प्रवक्ता ने दी।

उन्होंने बताया कि हरियाणा पंडाल हरियाणवी संस्कृति को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड की ओर से हरियाणा सांस्कृतिक दर्शन पंडाल स्थापित किया जा रहा है। इस पंडाल में जहां एक ओर हरियाणवी हस्त शिल्प के अलग-अलग स्वरूप देखने को मिलेंगे, वहीं पर दूसरी ओर हर रोज सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जाएगा जो विशेष रूप से आकर्षण का केन्द्र होंगी। इसी कड़ी में आगामी 17 दिसंबर को हरियाणवी लोक परिधानों पर आधारित हरियाणवी फैशन शो का आयोजन किया जाएगा।

हरियाणा पंडाल के प्रभारी डॉ. महासिंह पूनिया ने बताया कि हरियाणवी लोक परिधानों की अपनी सांस्कृतिक विरासत है। इस विरासत को नये स्वरूप में प्रस्तुत कर युवाओं को अपने परिधानों से जोडने के लिए इस हरियाणवी फैशन शो का आयोजन किया जा रहा है।

फैशन शो के माध्यम से हरियाणा के नये तरीके से डिज़ाईन किए गए घाघरे, कुर्ते, धोती, पगड़ी, एथेनिक हरियाणवी डै्रस के साथ-साथ हरियाणवी चादर, चादरा, कुर्ता, स्टॉल आदि को रैम्प पर हरियाणवी मॉडल नये स्वरूप में प्रस्तुत करेंगे। उन्होंने कहा कि गीता जयंती में हरियाणवी लोक परिधान फैशन शो पहली बार आयोजित किया जा रहा है।

कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा ने कहा कि कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव में संस्कृति को मंच देना उनका उद्देश्य है। इसी उद्देश्य से हरियाणा सांस्कृतिक दर्शन पंडाल में हरियाणवी फैशन को आयोजन पहली बार किया जा रहा है।

 

 

 

 

 

 

 

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सोनाली फौगाट और अफसर पर केस हुआ दर्ज, दोनों तरफ से दी गई थी शिकायत

Yuva Haryana, Hisar हिसार में बì…