अटल बिहारी वाजपेयी की हालत नाजुक, 24 घंटे से नहीं हो रहा हालत में कोई सुधार

Breaking चर्चा में देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Sweety Sharma, Yuva Haryana
Delhi, 16 August, 2018

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत नाजुक बनी हुई है। बता दें की पिछले 24 घंटे में उनके स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हुआ है। इस बीच एम्स की ओर से वाजपेयी का नया हेल्थ बुलेटिन जारी किया गया।

गुरुवार सुबह  उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू वाजपेयी का हाल जानने पहुंचे। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी वाजपेयी का हाल जानने एम्स पहुंचे।

एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया के नेतृत्व में डॉक्टरों की एक टीम लगातार वाजपेयी के स्वास्थ्य पर नजर रखे रही है। एम्स की ओर से बुधवार शाम मेडिकल बुलेटिन में बताया गया कि उनकी हालत नाजुक है, पिछले 24 घंटे में उनकी तबीयत में कोई सुधार नहीं हुआ है।

उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार शाम को एम्स पहुंचकर वाजपेयी की तबियत जानी ,पीएम मोदी करीब 50 मिनट तक एम्स में रहे। प्रधानमंत्री के अलावा कई और केंद्रीय मंत्रियों ने अस्पताल जाकर वाजपेयी के हेल्थ की जानकारी ली। वाजपेयी के स्वास्थ्य के बारे में लोग तमाम नेताओं ने ट्वीट कर वाजपेयी के दीर्घायु होने की कामना की प्राथना कर रहे हैं।

93 वर्षीय पूर्व प्रधानमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता वाजपेयी बीते 11 जून से अस्पताल में भर्ती हैं।पीएम मोदी रोजाना अटल बिहारी वाजपेयी की मेडिकल कंडीशन की जानकारी ले रहे हैं।

सूत्रों के मुताबिक एम्स में भर्ती अटल बिहारी वाजपेयी की हालत पिछले 24 घंटे में ज्यादा बिगड़ गई है। उनके यूरिन, सीने और किडनी में इंफेक्शन बढ़ गया है।डॉक्टरों का पैनल उनकी निगरानी कर रहा है।

बता दें ,कि अटल बिहारी वाजपेयी डिमेंशिया नाम की गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं और 2009 से ही व्हीलचेयर पर हैं। कुछ समय पहले भारत सरकार ने उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया था अटल बिहारी वायपेयी 1991, 1996, 1998, 1999 और 2004 में लखनऊ से लोकसभा सदस्य चुने गए थे। वाजपेयी 3 बार प्रधानमंत्री रहे।

वह पहली बार 1996 में प्रधानमंत्री बने और उनकी सरकार सिर्फ 13 दिनों तक ही रह पाई। 1998 में वह दूसरी बार प्रधानमंत्री बने, तब उनकी सरकार 13 महीनों तक चली थी। 1999 में वाजपेयी तीसरी बार प्रधानमंत्री बने और 5 सालों का कार्यकाल पूरा किया। 5 साल का पूर्ण कार्यकाल पूरा करने वाले वह पहले गैरकांग्रेसी प्रधानमंत्री हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *