जानलेवा धुएं के खिलाफ हरियाणा में होगी नई लड़ाई, हुक्का मुक्त गांवों को सम्मानित करेगी सरकार

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन सेहत हरियाणा हरियाणा विशेष

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि राज्य के गांवों में तम्बाकू सेवन को समाप्त करने के लिए अभियान चलाया जाएगा और जो गांव किसी भी प्रकार का तम्बाकू का सेवन नहीं करेगा, उसे राज्य स्तर पर सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गांवों में हुक्का सेवन तो सिग्रेट और तम्बाकू से भी खतरनाक है, क्योंकि इसमें चारकोल भी होता है और वह शरीर के लिए हानिकारक है। इसलिए हुक्का सेवन को बंद करने के लिए गांवों में एक अभियान चलाया जाएगा, जिसके तहत जिस गांव में तम्बाकू सेवन पूर्ण रूप से बंद होगा, उसे सम्मानित भी किया जाएगा।

हरियाणा में चिकित्सा व शिक्षण संस्थानों की निर्धारित परिधि में तंबाकू एवं धुम्रपान बेचने पर पूर्ण पाबंधी लगाने के लिए राज्य और जिला स्तर पर संचालन समितियों का गठन किया जाएगा, जो कि नशे के गतिविधियों पर नजर रखेंगे। इसके लिए एक विशेष अभियान भी चलाया जाएगा, ताकि राज्य को पूरे तरीके से तंबाकू नशा मुक्त बनाया जा सके।

विज ने कहा कि लोगों को तंबाकू एवं धुम्रपान के नशे से दूर रखने के लिए शिक्षा और कानून दोनों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। सार्वजनिक स्थलों पर धुम्रपान और तंबाकू का सेवन करने वालों पर जुर्माना व सजा का प्रावधान है। इसलिए परिवहन विभाग की बसों के चालक परिचालकों को भी चाहिए कि वे अपनी बसों में तंबाकू, बीड़ी व सिगरेट का सेवन न करने दें।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों द्वारा बीड़ी, सिगरेट व तंबाकू बेचना और खरीदना गैर कानूनी है। इसलिए विभाग को सुनिश्चित करना होगा कि 18 वर्ष से कम आयु के बच्चे ऐसी फैक्टरियों में काम न करें। उन्होंने गांवों में बच्चों सहित लोगों को तंबाकू, धुम्रपान जैसी नशे से दूर रखने के लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए तव तंबाकू फ्री होने वाले गांवों को पुरस्कृत करने को कहा। उन्होंने कहा कि गांवों में हुक्के का विशेष तौर पर प्रयोग किया जाता है, जोकि बीड़ी, सिगरेट से भी ज्यादा हानिकारक होता है।

विज ने कहा कि अनेक अधिकारियों को नशा करने वालों का चालान करने का अधिकार है। वहीं पुलिस को भी अपनी जिम्मेदारी को वहन करना चाहिए।  इसके लिए स्कूलों, धार्मिक संस्थाओं, एनजीओ व सामाजिक संगठनों का सहयोग लिया जाना चाहिए ताकि समाज से इस कलंक को धोया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *