मुर्गा- मुर्गी का अनोखा विवाह, कालिया और सुंदरी बंधे शादी के बंधन में, जानिए क्या है शादी की असली वजह-

Breaking चर्चा में देश बड़ी ख़बरें विविध हरियाणा

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Chhattisgarh, 6 May, 2018

क्या आपने कभी सुना है कि कभी मुर्गा- मर्गी की शादी करवाई गई हो ?

मुर्गा- मुर्गी की इस शादी को पूरे रस्मों- रिवाज के साथ संपन्न करवाया गया।

आजकल सोशल मीडिया पर ये शादी पूरे तरीके से छाई हुई है, जहां मुर्गा- मुर्गी उर्फ दूल्हा ‘कालिया’ और दुल्हन ‘सुंदरी’ का आनोखा विवाह करवाया गया है।

खास बात तो ये है कि इस शादी के निमंत्रण के लिए बकायदा कार्ड भी भेजे गए। इस कार्ड पर लिखा था कि कालिया और सुंदरी की शादी में सबको शामिल होना है। हीरानगर से बारात निकलेगी जो एसबीआई चौक तक जाएगी।

आप हैरान मत होईये, हम आपको बताते है कि आखिर इस अजीब शादी की असली वजह क्या है। दरअसल कड़कनाथ प्रजाति के मुर्गों की घटती संख्या देखकर ये कदम उठाया गया है।

अपने अच्छे स्वाद के लिए खास पहचान रखने वाले कड़कनाथ मुर्गे के जीआई टैग की लड़ाई भले ही मध्य प्रदेश ने जीत ली है, लेकिन छत्तीसगढ़ के आदिवासी इलाकों में इसे आपना मानते है, साथ ही इस प्रजाति से अपना गहरा जुड़ाव भी रखते हैं।

यहीं कारण है कि इस प्रजाति के मुर्गों को प्रमोट करने के लिए उन्होंने ये पहल कर कालिया और सुंदरी की शादी करवाई है। इस शादी में ‘कड़कनाथ प्रोजेक्ट’ दंतेवाड़ा से जुड़े आधिकारी और कर्मचारी भी शामिल रहे।

बता दें कि कड़कनाथ प्रजाति को प्रमोट करने के इस कदम का कांग्रेस के नेताओं ने विरोध जताया है। उनका कहना है कि प्रशासन बेवजह के दिखावे में पैसा बर्बाद कर रहा है। हालांकि कृषि विज्ञान केंद्र के डॉ नारायण साहू ने इन आरोपों को खारिज कर कहा कि ये आयोजना पूरी तरह से पोल्ट्री किसानों की तरफ आयोजित किया जा रहा है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *