Home Breaking कंप्यूटर लैपटॉप में भी है हिंदी, आप भी करें इस्तेमाल

कंप्यूटर लैपटॉप में भी है हिंदी, आप भी करें इस्तेमाल

0
0Shares

Yuva Haryana News
@Surender Dahiya

सभी को हिन्दी दिवस पर शुभकामनाएं।

“निज भाषा उन्नति अहे सब उन्नति को मूल।”

आज हिन्दी दिवस के मौके पर कुछ खास बातें करने का मन है। और जब मन की बात हो तो वो मातृ भाषा मे ही हो सकती है। हमारे मन मे जो भी उद्गार होते हैं वो स्वतः ही अपनी भाषा में ही उठते हैं। किसी दूसरी भाषा मे भी लिखोगें अपने दिल की बात तो पहले उसको अपनी मातृभाषा में सोचोगे और फिर दिल ही दिल मे अनुवाद करके लिखोगें। #अनुवाद कभी भी #मूल से #बेहतर नहीं हो सकता। तो अगर आपने दिल की बात लिखनी है तो उसे अपनी मातृभाषा में ही लिखें।
आजकल सोशल मीडिया एक बेहतर साधन है अपनी बात कहने का और लगभग सही उपयोग कर भी रहे हैं। व्हाट्सएप और फेसबुक सर्वजन के साधन बन गए हैं अपनी बात कहने को।
तो आइये आज से हम अपनी बात अपनी मातृभाषा हिन्दी मे ही कहें और लिखे।
हिन्दी बहुत ही सरल भाषा है। कोई “साइलेंट” शब्द नहीं इसमे। जैसा बोला जाता है वैसा ही लिखा जाता है। अगर आप शब्द का उच्चारण सही जानते हैं तो उसकी वर्तनी भी सही ही होगी।
ज्यादातर गलती हिन्दी मे मात्रा की होती हैं। सीधा और सरल नियम है अगर उच्चारण में ध्वनि लंबी तो मात्रा बड़ी और ध्वनि छोटी तो मात्रा छोटी।
मेरा पिता पानी पीता है।
इसमे पिता में ई की छोटी ध्वनि है तो छोटी ई की मात्रा और पीता में ई की लंबी ध्वनि तो बड़ी ई की मात्रा। अगर ध्वनि छोटी बड़ी कर दी तो अनर्थ हो सकता है।
मेरा पीता पानी पिता है।
मोबाईल या कंप्यूटर, लैपटॉप पर हिन्दी को देवनागरी लिपि में लिखना कोई मुश्किल कार्य नहीं है। सभी मोबाईल, लैपटॉप में #कीबोर्ड अंग्रेजी इनपुट वाले होते हैं लगभग। बहुत सी ऐसी एप्प हैं जिनकी मदद से आप देवनागरी लिपि में लिख सकते हैं। ऐसी ही एक एप्प है “गूगल हिन्दी इंग्लिश इनपुट” के नाम से। इस एप्प को अपने मोबाईल पर अवतरित(डाऊनलोड) कर लो और फिर दिल खोल कर हिन्दी को देवनागरी लिपि में लिखो।
हिन्दी को रोमन में लिखना तो बहुत ही गलत है। वो तो समझो भाषा के साथ दुष्कर्म जैसा है। लिखना कुछ चाहते हो, लिखा कुछ जाता है और पढ़ा और समझा कुछ जाता है।
तो आइए आज हिन्दी दिवस पर शपथ लें कि दिल की बात दिल की ही भाषा मे लिखेंगे।
सभी को हिन्दी दिवस की शुभकामनाएं।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

52 पहुंचती है सवारियों की संख्या, तो चलेंगी रोडवेज की सभी बसें- मूलचंद शर्मा

Yuva Haryana News Chandigarh, 7 August, 2020 चंडीगढ…