हिसार एयरपोर्ट से जम्मू, देहरादून और जयपुर की उड़ानों की तैयारी, सरकार बना रही योजना

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 02 Oct, 2018

हरियाणा में हिसार एयरपोर्ट से दिल्ली और चंडीगढ़ की हवाई यात्रा के अलावा जम्मू, देहरादून और जयपुर की हवाई उड़ानों की भी तैयारी की जा रही है। इसको लेकर वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि हिसार को जल्द ही उत्तर भारत का सबसे बडा एविएशन हब के रुप में विकसित किया जाएगा।

कैप्टन अभिमन्यु आज जिला हिसार के गांव उमरा में आयोजित सातबास प्रतिभा सम्मान समारोह को बतौर मुख्यातिथि संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम का आयोजन हिसार लोकसभा निगरानी समिति के चेयरमैन प्रो. मनदीप मलिक द्वारा अपनी दिवंगत दादी भुला देवी की स्मृति में किया गया। खाप प्रधान मास्टर किताब सिंह मलिक ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए वित्तमंत्री व अतिथियों का स्वागत किया।

वित्तमंत्री ने कहा कि देश का सबसे बड़ा दिल्ली एयरपोर्ट 5000 एकड़ में बना हुआ है जबकि हिसार एयरपोर्ट को 7300 एकड़ भूमि पर विकसित किया जाएगा। हिसार एयरपोर्ट के लिए फिलहाल 4300 एकड़ भूमि उपलब्ध है जबकि 3000 एकड़ अतिरिक्त भूमि मुहैया करवाने की प्रक्रिया चल रही है। सरकार द्वारा इसका प्रस्ताव भी तैयार कर लिया गया है।

उन्होंने कहा कि हमारे बहुत से फौजी भाई जम्मू क्षेत्र में तैनात हैं, इनके अलावा बड़ी संख्या में श्रद्धालु वैष्णों देवी, अमरनाथ व हरिद्वार आदि की यात्रा पर जाते हैं। पर्यटन की दृष्टि से अनेक लोग जयपुर भी जाते हैं। इस प्रकार हिसार से जम्मू, देहरादून व जयपुर तीनों स्थानों की हवाई सेवाएं शुरू करवाने से आम जनता को फायदा होगा। सरकार हिसार एयरपोर्ट को हर दृष्टिकोण से सफल बनाने के लिए दृढ़ संकल्प है। आज हमारे जहाज डेंटिंग-पेंटिंग के लिए सिंगापुर या दुबई जाते हैं लेकिन जल्द ही इनकी रिपेयर के लिए हिसार में हवाई जहाजों की ऑटो मार्केट बनेगी। इससे हिसार ही नहीं, आसपास के कई जिलों को सीधा लाभ मिलेगा।

उन्होंने एक संस्मरण बताते हुए कहा कि प्रदेश में वर्तमान सरकार बनने के 5 महीने बाद मार्च 2015 में अधिकारियों ने उन्हें बताया कि हमारे पास 450 करोड़ रुपये पड़े हैं जिन्हें खर्च किया जाना है। मैंने उसी समय मुख्यमंत्री मनोहर लाल जी से विचार-विमर्श करके इस पैसे को हांसी-रोहतक रेलवे लाइन के लिए तुरंत प्रभाव से मंजूर करवाया। उन्होंने कहा कि वित्तीय मामलों के जानकार होने के नाते इतना पैसा एक बड़ी और महत्वपूर्ण परियोजना में लगाया जा सका वर्ना ये पैसा लैप्स हो जाता।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *