हिसार में आज रात से बंद हो सकती है इंटरनेट सेवाएं, शहर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस, धारा-144 लागू

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Vinod Saini, Yuva Haryana
Hisar, 10 Oct, 2018

हिसार में सतलोक आश्रम प्रमुख रामपाल मामले में कल फैसला आना है। इसके चलते पूरे हिसार जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है वहीं शहर में चप्पे चप्पे पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। माना जा रहा है कि आज रात से शहर में मोबाइल इंटरनेट की सेवाएं भी रोकी जा सकती है।

सतलोक आश्रम प्रमुख रामपाल पर कोर्ट ने हाल ही में फैसला सुरक्षित रख लिया था. अब 11 अक्टूबर को तीन केसों में रामपाल पर फैसला आना है. ऐसे में रामपाल के समर्थक भी हिसार में डेरा जमाए हुए हैं। हालांकि अब पुलिस ने बाहर से आने वाले लोगों पर रोक लगा दी है और शहर में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

हिसार में रामपाल के फैसले को लेकर दूसरे जिलों से भी पुलिस को बुलाया गया है। प्रशासन की तरफ से 20 ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाए गए हैं। 12 डीएसपी की ड्यूटी लगाई गई है। एक टुकड़ी रैपिड एक्शन फोर्स की बुलाई गई है। हिसार में 48 नाके आज देर रात तक लगाए जाएंगे। जिले से 1300 पुलिस कर्मी और बाहरी जिलों से 700 जवानों की ड्यूटी लगाई गई है। तैनात किए गए जवान 15 अक्टूबर तक तैनात रहेंगे। जिले के अंदर 25, सीमाओं पर 12 और साथ लगते अन्य जिलों में 11 नाके लगाए गए हैं।

कल फैसला आना है इसलिए रुट को डायवर्ट किया जाएगा वहीं जिला के संवेदनशील स्थानों पर प्रशासन का विशेष फोकस रहेगा। इन प्वाईंटस पर अतिरिक्त बल तैनात होने के साथ-साथ जिला पुलिस, वॉटर कैनन, फायर ब्रिगेड की गाडिय़ां, एम्बुलेंस, जेसीबी मशीन व क्रेन आदि की भी पर्याप्त व्यवस्था रहेगी। न्यायालय व कचहरी परिसर पूरी तरह से सील रहेगा। यहां पर किसी भी अनाधिकृत व्यक्ति का प्रवेश वर्जित रहेगा ।

रामपाल पर अभियोग 429, 430 और 443पर सुनवाई हुई थी। छह अक्टूबर को सतलोक आश्रम प्रकरण के हत्या के मुकद्दमा नंबर 430 में सुनवाई हुई थी। इस केस में गवाहों की गवाही पूरी हो चुकी है। इस केस में आश्रम प्रमुख रामपाल समेत 14 लोग आरोपी हैं।

रामपाल केस के कल संभावित फैसले के मद्देनजर जिलाधीश अशोक कुमार मीणा ने जिला में धारा 144 लागू की है। इसके नियमों की उल्लंघना करने के दोषी व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जिलाधीश अशोक कुमार मीणा ने बताया कि बरवाला स्थित सतलोक आश्रम के संचालक रामपाल के खिलाफ न्यायालय में चल रहे मुकदमे के कल संभावित फैसले के मद्देनजर जिला में कानून व्यवस्था बनाए रखने हेतु पुलिस अधीक्षक की अनुशंसा पर धारा 144 लागू की गई है।

उन्होंने बताया कि मुख्य रूप से रेलवे स्टेशनों, लघु सचिवालय परिसर, कोर्ट परिसर, केंद्रीय कारागार प्रथम व द्वितीय, टाउन पार्क, क्रांतिमान पार्क व अन्य स्थानों पर रामपाल अनुयायियों की भीड़ एकत्रित होने की आशंका है। इसलिए जिला में शांति व कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा 144 लागू की गई है। उन्होंने बताया कि इसके तहत पांच या पांच से अधिक व्यक्तियों के एक स्थान पर इक्कट्ठा होने पर पाबंदी लगाई गई है। इसके अलावा कोई भी ऐसी वस्तु जो हथियार के रूप में इस्तेमाल की जा सके, को लेकर चलने पर भी प्रतिबंध रहेगा। इसके अंतर्गत जेली, गंडासी, भाला, बरछा, चाकू, तलवार, लाठी, चैन व अन्य किसी प्रकार के शस्त्र लेकर घूमना वर्जित है।

उन्होंने बताया कि इन आदेशों की अवहेलना में यदि किसी व्यक्ति को दोषी पाया जाता है तो वह भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत दंड का भागीदार होगा।

उन्होंने बताया कि अतिरिक्त उपायुक्त अमरजीत सिंह मान के नेतृत्व में कृषि उपनिदेशक विनोद फौगाट व बीडीपीओ जयपाल तंवर को शामिल करते हुए टीम का गठन किया गया है। इस टीम के साथ एसटीएफ के उप पुलिस महानिरीक्षक आईपीएस सतीश बालान, उप पुलिस अधीक्षक राहुल देव व कप्तान सिंह को लगाया गया है। यह टीम पूरे जिला की सुरक्षा व्यवस्था की ओवर ऑल जिम्मेदारी संभालेगी।

इसी प्रकार हांसी के एसडीएम राजीव अहलावत के नेतृत्व में गठित टीम में बीडीपीओ संदीप कुमार व तहसीलदार विनय चौधरी को शामिल किया गया है। इस टीम के साथ डीसीपी आईपीएस लोकेंद्र, उप पुलिस अधीक्षक देवेंद्र कुमार तथा शाकिर हुसैन को लगाया गया है। यह टीम सिरसा चुंगी से महाराणा प्रताप चौक, महाराणा प्रताप चौक से जिंदल चौक, डाबड़ा चौक, फव्वारा चौक तथा बस स्टैंड एरिया देखेगी।

बरवाला के एसडीएम पृथ्वी सिंह के नेतृत्व में गठित टीम में नारनौंद तहसीलदार अशोक कुमार, हांसी तहसीलदार प्रकाश चंद व नायब तहसीलदार हरकेश गुप्ता को शामिल किया गया है। इस टीम के साथ सिरसा के पुलिस अधीक्षक हामीद अखतर, उप पुलिस अधीक्षक किशोरी लाल, रविंद्र तोमर व नरेंद्र कादियान को नियुक्त किया गया है। यह टीम फव्वारा चौक से डाबड़ा चौक, जिंदल चौक, सातरोड़, साउथ बाईपास, तोशाम रोड, कैमरी रोड, राजगढ़ रोड नाका, लघु सचिवालय तथा फव्वारा चौक एरिया की सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी संभालेगी।

हिसार के एसडीएम परमजीत सिंह चहल की टीम में बीडीपीओ संजय टाक व नायब तहसीलदार अनिल परुथि को शामिल किया गया है। इस टीम में पलवल के पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम, उप पुलिस अधीक्षक विजय पाल, अमरजीत सिंह व मौजी राम को शामिल किया गया है। यह टीम राजगढ़ रोड से गंगवा गांव, राजगढ़ रोड नाका से फव्वारा चौक, बस स्टैंड, सिरसा चुंगी, बगला रोड, साउथ बाईपास तथा राजगढ़ रोड नाका का एरिया देखेंगे।

उपायुक्त ने बताया कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के प्रशासक दिनेश यादव के ने$तृत्व में गठित टीम में बीडीपीओ रणसिंह, आदमपुर के नायब तहसीलदर ललित कुमार, बास के नायब तहसीलदार रामचंद्र व जिला समाज कल्याण अधिकारी दलबीर सिंह सैनी को शामिल किया गया है। इस टीम के साथ आईआरबी आदेशक आईपीएस संगीता कालिया, उप पुलिस अधीक्षक सतेंद्र दहिया, नरिसिंह व जोगिंद्र व उमेद सिंह को तैनात किया गया है। यह टीम पीएलए मार्केट, डाबड़ा चौक तथा लघु सचिवालय क्षेत्र के लिए रिजर्व रहेगी।

जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी अशवीर नैन की टीम में बीडीपीओ खजान चंद व डीएफएससी सुभाष सिहाग को शामिल किया गया है। इस टीम के साथ जींद के पुलिस अधीक्षक अरुण नेहरा, उप पुलिस अधीक्षक परमजीत समोधा व सुनील कुमार को लगाया गया है। यह टीम लिफ्टिंग ड्यूटी पर तैनात रहेगी। लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता बलवान सिंह खोखर के साथ गुरुग्राम डीसीपी हीरा सिंह हिसार रेंज के आईजी के लिए रिजर्व रहेंगे। इनके अलावा डीएचबीवीएन के कार्यकारी अभियंता सतीश कुमार, लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता विशाल तािा मनोज ओला को रिजर्व ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है।

केस नंबर 429 और 430 में रामपाल पर हत्या, देशद्रोह के तीन मुकद्दमें दर्ज हैं। कोर्ट में केस नंबर 428 देशद्रोह से जुड़ा हुआ है इस केस में रामपाल समेत 937 आरोपी बनाए गएहैं। यह केस बरवाला में 19 नवंबर 2014 को दर्ज किया गया था। इसमें रामपाल, प्रीतम, बिल्लू, राजेंद्र, बिजेंद्र, सावित्री, बबीता पूनम आदि के खिलाफ केस दर्ज किया था।

अभियोग नंबर-430 में धारा 302, 343, 120 बी के तहत रामपाल, प्रीतम उर्फ राजकपूर, राजेंद्र सहित 14 के खिलाफ केस दर्ज किया था। इसमें पांच महिलाओं की मौत का मामला था, जिसमें एक बच्चे की मौत भी शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *