बजट पर हुड्डा का हमला, कहा-थोथा चना, बाजे घना

Breaking बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

हरियाणा के भूतपूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने हरियाणा के बजट पर तीखा हमला करते हुए कहा है कि भाजपा सरकार की इवेंट मैनेजमेंट और फिजूलखर्ची ने राज्य को आर्थिक दिवालियापन के कगार पर धकेल दिया है।

दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए हुडडा ने कहा कि भाजपा अपने बजट को भले किसान-हितैषी बोलो पर लोग उनके खोखले वादों की असलियत जान चुके हैं और यह मान चुके हैं कि इनके राज में विकास होने की कोई संभावना नहीं है।

राज्य सरकार की आर्थिक नीति पर तीखा प्रहार करते हुए हुड्डा ने कहा हरियाणा की वर्तमान सरकार कर्जा लेकर उत्सवों का आयोजनों में लगी है और हालत इतनी खराब हो गई है कि सरकार को कर्जा लेकर कर्जा चुकाना पड़ रहा है। राज्य पर कुल कर्ज 1.61 लाख करोड़ तक पहुंच गया है जबकि वर्तमान अनुमानों के अनुसार, 2020-21 राज्य पर कर्जा राज्य के सकल घरेलू उत्पाद का 25 फीसदी तक पहुंच जाएगा, जो राज्य के लिए लम्बे समय के लिए राज्य को कर्जे में डूबो देगा, जिसका खामियाजा आने वाली पीढ़ियों को भुगतना पड़ेगा।

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा की सरकारी आंकड़े बता रहे हैं कि आने वाले साल में 31,832 करोड़ रुपये का कर्ज लेने का प्रस्ताव किया गया है जिसमें से केवल 17,546 करोड़ रुपये ही पूंजीगत व्यय में खर्च किए जाएंगे। इससे साफ है कि नए कर्ज का बड़ा हिस्सा पुराने कर्ज को चुकाने में खर्च किया जाएगा।

राज्य के बजट को एक अधकचरा दस्तावेज कहते हुए हुड्डा ने राज्य सरकार के वित्तीय प्रबंधन पर हमला करते हुए कहा कि भाजपा के राज में राजस्व घाटा 8,253 करोड़ और वित्तीय घाटा 19,399 करोड़ पर पहुंच गया है जो हरियाणा राजकोषीय उत्तरदायित्व विधेयक 2005 के खिलाफ है।

शिक्षा क्षेत्र पर चिन्ता व्यक्त करते हुए हुड्डा ने कहा कि सरकार के रवैये के कारण अकेले इस क्षेत्र में 22,000 पद रिक्त हैं जिसका असर प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था पर साफ नजर आ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *