बारिश की भेंट चढ़ा गरीब परिवार का आशियाना, कड़ी मशक्कत के बाद बचाई मासूमों की जान

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Ajay Atri, Yuva Haryana

Rewari, 3 Sep, 2018

बाढ़ रूपी बारिश का कहर तो थम गया, लेकिन इस परिवार के आंखों के आंसू थमने का नाम ही नही ले रहे है। जिनका सब कुछ बारिश के पानी की भेंट चढ़ गया।

इस परिवार के अरमान पानी में बहते रहे लेकिन परिवार के बड़े अपने बच्चों की जान बचाने में जुटे रहे। किसी तरह बच्चों को घर की छत तक पहुंचाया गया, तब कहीं जाकर इस कहर से बच्चों की जान बचाई गई।

अब ना इनके पास खाने को है, ना कुछ बनाने को। अब पड़ोस के निवाले खाकर ये पीड़ित परिवार जिंदा है। अब इन्हें प्रशासन से एक उम्मीद है कि उनकी आर्थिक मदद करें, ताकि इस पीड़ित परिवार में खुशियां फिर से लौट सकें।

पीड़ित परिवार की माने तो सुबह के समय पूरा परिवार एक साथ बैठकर चाय नाश्ता कर रहा था। तभी देखते- देखते जोरदार बरसात होने पर चंद मिनटों में ही पूरा मकान पानी से लबालब भर गया। मानों घर ने तालाब का रूप ले लिया हो। जो परिवार सुबह की चाय पी रहा था, उस घर से चीखने-चिल्लाने की आवाजें गूंजने लगी।

देखते ही देखते घर में एकत्रित सपनों का सामान पानी में बहने लगा। परिवार के बड़े सामान को छोड़कर मासूम बच्चों को बचाने में जुट गए। किसी तरह पीड़ित परिवार ने मासूम बच्चों को घर की छत पर लेजाकर सुरक्षित किया, तब कहीं जाकर उनकी सांस में सांस आई।

लेकिन तब तक उनके अरमान पानी मे समाहित हो गया था। छोटे मासूमों के अलावा पढ़ने वाली बेटियां भी है जिनकी महंगी किताबें पानी की भेंट चढ़ गई। अब किताबे ख़रीदने की गुंजायश भी नही है।

इन बेटियों ने अब सरकार से आर्थिक सहायता की मांग की है, ताकि उनकी शिक्षा आगे जारी रहे। अब देखना होगा कि जो सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा दें रही है। क्या वह इन बेटियों की मदद के लिए आगे आएगी या फिर नारा दिखावा बनकर रह जायेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *