HSSC भर्ती घोटाले की SIT जांच कोर्ट ने की खारिज, कहा सही से नहीं की गई है मामले की जांच

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Panchkula, 5 Dec, 2018 

पंचकूला कोर्ट ने प्रदेश में हुई HSSC भर्ती घोटले की SIT जांच को खारिज कर दिया है। कोर्ट ने कहा है कि SIT ने जांच सही से नहीं की है। इसलिए सरकार अब तीन IPS अधिकारियों की टीम से इसकी दोबारा जांच करवाए और दो महीने में जांच रिपार्ट पेश करे।

जिसके बाद पंचकूला के अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश नरेंद्र सूरा की कोर्ट ने पुलिस महानिदेशक को जल्द से जल्द तीन IPS अधिकारियों की नियुक्ति के आदेश दिए हैं।

बता दें कि HSSC की ओर से ड्राइवर, क्लर्क, क्लर्क(जनर्ल), टाइपिंग टेस्ट, ग्रिड ऑपरेटर, कंडक्टर भर्ती की गई थी। जिसमें दस लाख रुपये लेने के आरोप लगे थे। इस पर कोर्ट ने हैरानी जताई थी कि SIT ने कॉल ट्रांसक्रिप्शन की पूरी डीवीडी तक नहीं सुनाई थी। इसके साथ ही आरोपितों के मोबाइल से दो हजार से ज्यादा हुई कॉल की जांच पूरी नहीं की गई।

इसके बाद भी सीआरपीसी की धारा 173(8) के तहत 26 नवंबर को सप्लीमेंट्री चालान दाखिल किया गया और कहा गया कि जांच पूरी हो गई है।

पैन ड्राइव का पूरा रिकॉर्ड प्रींट करके कोर्ट में  पेश किया गया था। जिसमें गिरफ्तार आरोपियों के मोबाइल का पूरा डाटा दिया गया था। रोल नंबर HSSC या अन्य संस्थानों द्वारा विभिन्न पदों के लिए आयोजित विभिन्न परिक्षाओं से संबंधित थे। इतने सारे दस्तावेजों और रोल नंबरों में मिले आंकड़े SIT के सदस्य इंस्पेक्टर अमन के देने पर प्रस्तुत किए गए, लेकिन कोई जांच नहीं की गई।

कोर्ट ने कहा है कि इंस्पेक्टर अमन के इंस्ट्रक्शन पर SIT ने उन फोनों की पूरी बातचीत नहीं सुनी है, जो हस्तक्षेप पर रखे गए थे और डीवीडी से निहित थे। SIT ने चुनी हुई बातचीत के आधार पर अपनी जांच को सीमित कर दिया और उसी आधार पर FIR दर्ज की गई।

बता दें कि 5 अप्रैल 2018 को विभिन्न धाराओं के तहत सीएम प्लाइंड स्क्वॉयड की डीएसपी पूर्णिमा सिंह की शिकायत पर केस दर्ज किया गया था। मामले को SIT को सौंपा था, अब कोर्ट ने SIT की जांच रिपार्ट को खारिज कर दिया है और दोबारा से IPS अधिकारियों से जांच करवाने के आदेश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *