Home Breaking शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया HTET-2017 का परिणाम, अभी तक का सबसे खराब रिजल्ट

शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया HTET-2017 का परिणाम, अभी तक का सबसे खराब रिजल्ट

0
0Shares

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने एचटेट-2017 का परीक्षा परिणाम जारी कर दिया है। बोर्ड चेयरमैन डा. जगबीर सिंह और सचिव धीरेन्द्र खङगटा ने बताया कि इस बार लेवल-1 में 12.51, लेवल-2 में 9.98 तथा लेवल-3 में महज 0.83 फिसदी परीक्षार्थी ही पास हुए हैं। साथ ही बोर्ड ने एचटेट-2018 में होने वाली परीक्षा की तिथियां भी घोषित कर दी हैं।

बता दें कि 23-24 दिसंबर 2017 में हुई एचटेट परीक्षा में 4 लाख 12 हजार 24 परीक्षार्थियों ने एचटेट-2017 की परीक्षा दी थी, जिनमें 1 लाख 23 हजार 419 पुरुष और 2 लाख 88 हजार 605 महिला ने परीक्षा के लिए अप्लाई किया था। बोर्ड चेयरमैन ने बताया कि लेवल-1 (पीआरटी) की परीक्षा में एक लाख 40 हजार 507 अभ्यार्थी प्रविष्ट हुए थे जिनमें 43 हजार 509 पुरुषों में से 7 हजार 294 पास हुए हैं। इसी प्रकार लेवल-1 में 96 हजार 998 महिलाएं प्रविष्ट हुई थी, जिनमें से 10 हजार 280 पास हुई हैं। उन्होंने बताया कि लेवल-1 का कुल परीणाम 12.51 फिसदी रहा है जिसमें पुरुषों का पास प्रतिशत 16.76 और महिलाओं का पास प्रतिशत 10.60 प्रतिशत रहा है।

वहीं लेवल-2 (टीजीटी) में कुल एक लाख 54 हजार 577 अभ्यार्थी प्रविष्ट हुए थे, जिनमें 44 हजार 179 पुरुषों में से 6 हजार 163 और एक लाख 10 हजार 398 महिलाओं में से 9 हजार 257 पास हुई हैं। लेवल-2 में 13.95 फिसदी पुरुष और 8.39 महिलाएं पास हुई हैं। इसी प्रकार लेवल-3 कुल परिणाम 0.83 रहा है। जिसमें कुल एक लाख 16 हजार 940 अभ्यार्थियों में से 35 हजार 731 पुरुषों में से 469 यानि 1.31 फिसदी पास हुए हैं।

लेवल-3 में 81 हजार 209 में से 500 यानि 0.62 फिसदी पास हुई हैं। चेयरमैन ने बताया कि 1816 परीक्षार्थियों का परिणाम बॉयोमैट्रिक में पहचान मेल ना होने पर रोका गया है। वहीं एचटेट-2018 की परीक्षा 17-18 नंबर 2018 में आयोजित की जाएगी।

पिछले तीन सालों के परीणामों की तुलना करते हुए चेयरमैन डा. जगबीर सिंह ने बताया कि एचटेट लेवल-3 का परीणाम नवंबर-2011 में 13.7 फिसदी, जून-2013 में 2.7 फिसदी, फरवरी-2014 में 6.28 फिसदी, जून-2016 में 21.86 तथा दिसंबर-2017 में 0.83 फिसदी रहा है। इसी प्रकार लेवल-2 का परिणाम नवंबर-2011 में 15.43 फिसदी, जून-2013 में 1.57 फिसदी, फरवरी-2014 में 6.36 फिसदी, जून-2016 में 9.03 तथा दिसंबर-2017 में 9.98 फिसदी रहा है। इसी प्रकार लेवल-1 का परिणाम नवंबर-2011 में 19.49 फिसदी, जून-2013 में 10.30 फिसदी, फरवरी-2014 में 7.29 फिसदी, जून-2016 में 35.37 तथा दिसंबर-2017 में 12.51 फिसदी रहा है।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सीएम मनोहर लाल ने रोहतक में की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कई बिंदुओं को लेकर बोले मुख्यमंत्री

Yuva Haryana, Chandigarh रोहतक मुख्&…