मंत्री विपुल गोयल ने पेश की मिसाल, भतीजी के साथ 31 कन्याओं की भी कराई शादी, 101 जरूरतमंद परिवारों को दिए आवास

Breaking हरियाणा

समाज में बेटियों की शादी को बोझ माना जाना है। शादी में दिखावा और फिजूलखर्ची करने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाती।
जो जितना खर्चा करेगा, उतनी ही अच्छी शादी मानी जाती है।

लेकिन अगर किसी के पास कम पैसे है, तो समाज के डर से बेटी की शादी के लिए कर्जा करना पड़ता है।
क्या ये सही है ?

हम सबको मिलकर इसे खत्म करना होगा जैसे हरियाणा के उद्योग और पर्यावरण मंत्री विपुल गोयल ने इस दिखावे के खिलाफ सबको एक बड़ा संदेश दिया है। विपुल गोयल ने अपनी भतीजी की शादी में ऐसा उदाहरण पेश किया है जो समाज के लिए मिसाल हो सकता है।

अपने बड़े भाई अशोक गोयल की बेटी टीना गोयल की शादी उन्होंने एक सामूहिक विवाह सम्मेलन में सम्पन्न की। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उन्होंने वाराणसी में 101 जरूरतमंद लोगों को घर देने का कार्य किया है। इस शादी में किसी भी प्रकार का दहेज नहीं दिया, एक साधारण से विवाह के रुप में इसे संपन्न किया गया।

इसके साथ लाभार्थियों को शादी समारोह में घर बनाने के लिए चेक भी वितरित किए गए और टीना गोयल के साथ दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में 31 कन्याओं की भी शादी की गई। इस शादी में बिना किसी पेपर कार्ड छपवाए मोबाइल मैसेज के जरिए सभी मेहमानों को आमंत्रित किया गया।
शादी में महंगी थाली की बजाय सीमित संख्या में मेहमानों को पकवान परोसे गए।

विपुल गोयल ने इस शादी के जरिए शादियों में फिजूलखर्ची पर नियंत्रण करने की भी अपील की है। उन्होंने कहा कि दहेज प्रथा बेटियों को पढ़ाने और आगे बढ़ाने में सबसे बड़ी बाधा है। उन्होने समर्थ और धनवान लोगों से शादी में फिजूलखर्ची करने की बजाय उस पैसे को जनकल्याण में खर्च करने का आह्वान किया।

विपुल गोयल ने कहा कि जिस तरह शादी के महंगे कार्ड छपवाने और महंगी कैटरिंग पर पैसा खर्च किया जाता है उस पैसे से कई लोगों का भला हो सकता है। इसीलिए फिजूलखर्ची से बेहतर है कि कुछ पुण्य कमा लिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *