खतरे में शादी और सरपंच की कुर्सी, बाल विवाह के आरोपों में घिरा पति

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Panipat, 20 July 2019

पानीपत के एक गांव से बेहद ही चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक सरपंच की सरपंची और शादी दोनों ही खतरे में आ गयी है। दरसअल गांव के ही रहने वाले एक व्यक्ति ने बाल विवाह निषेध एवं महिला सुरक्षा में शिकायत दी है कि जब महिला और उसके पति की शादी हुई तो उस समय उसका पति नाबालिग था। बल्कि शादी के चार साल बीत जाने के बावजूद भी उसकी शादी की उम्र नहीं हुई है। शिकायतकर्ता ने उनकी शादी को कानून गलत बताया है और इसकी जांच करने की मांग की है।

बाल विवाह निषेध एवं महिला सुरक्षा अधिकारी के पास आयी इस शिकायत में आरोप लगाए गए हैं कि महिला सरपंच की 2015 में शादी हुई थी। तब उसके पति की उम्र केवल 16 वर्ष की थी। लेकिन लड़के के घर वाले सरपंची के लिए कम उम्र में उसकी शादी करवा दी। महिला और युवक की शादी को अब 4 साल हो गए हैं और उनके दो बच्चे भी हैं।

लेकिन शादी की उम्र के हिसाब से अभी भी लड़के की उम्र केवल 20 साल की हुई है। जबकि शादी के लिए उसकी उम्र 21 वर्ष होना जरूरी है। शिकायतकर्ता का कहना है कि यह बाल विवाह का मामला है और इनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। दरअसल हुआ ये कि लड़के के परिवार वालो ने सरपंच की कुर्सी के लिए कम उम्र में ही लड़के की शादी कर दी और नई ब्याह कर आयी बहू को चुनाव में खड़ा कर दिया।

वह चुनाव जीत गई और गांव की सरपंच बन गई। लेकिन शादी के चार साल बाद भी लड़के की शादी की उम्र नहीं हुई है। वहीं इस मामले में बाल विवाह निषेध एवं महिला सुरक्षा अधिकारी रजनी गुप्ता ने बताया कि हमें जिले की एक महिला सरपंच और उसके पति की शिकायत मिली है। शिकायतकर्ता ने इस मामले में बापौली थाना और सीएम विंडो में भी शिकायत दी हुई है। दस्तावेजों की जांच करने के बाद लड़के की उम्र कम मिली तो कार्रवाई की जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *