Home देश फावड़ा चला लूंगा, पर किसी के आगे हाथ पैर नहीं फैलाउंगा

फावड़ा चला लूंगा, पर किसी के आगे हाथ पैर नहीं फैलाउंगा

0
0Shares

Yuva Haryana

Malda (21 April 2018)

आज बात करते है एक ऐसे इंसान की जो साधारण लोगों के लिए एक मिसाल से कम नहीं है। पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में रहने वाले जगन्नाथ का जन्म बिना हाथों के हुआ था। जन्म से दोनों हाथ न होने के बावजूद भी वो आज अपने पूरे परिवार का खर्च उठा रहा हैं।

जगन्नाथ का बचपन भी काफी संघर्षों में बीता। हाथ न होने के साथ-साथ छोटी उम्र में ही सिर से पिता का साया भी छिन गया। लेकिन जगन्नाथ ने जिंदगी भर हिम्मत नहीं हारी। अपने पूरे परिवार की सारी जिम्मेदारी जगन्नाथ ने खुद संभाली। जगन्नाथ आज भी मेहनत मजदूरी कर अपने परिवार को चला रहे हैं।

आटा पिसाने से लेकर घर के सारे काम वो खुद ही करते हैं। हाथों के बिना भी वो तेज रफ्तार से साइकिल चला लेते हैं। जगन्नाथ को खेतों में फावड़ा चलाते देख हर कोई हैरान रह जाता है, लेकिन वो बड़ी आसानी से ये सारे काम कर लेते हैं। शुरू से ही जगन्नाथ की पढ़ाई में बेहद रुचि रही है।

परिवार चलाने की जिम्मेदारी को उन्होंने कभी भी अपनी पढ़ाई के बीच नहीं आने दिया। जगन्नाथ ने मेहनत से ग्रेजुएशन पूरी कर ली है और वो भूगोल में स्नातक कर रहे हैं। वो पढ़ लिखकर टीचर बनना चाहते हैं।

Read This Story Also

SC/BC वर्ग के छात्रों के लिए JEE/NEET की कोचिंग मुफ्त, सरकार ने मांगे आवेदन

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 327 पॉजिटिव केस, देखिए मेडिकल बुलेटिन

Yuva Haryana, Chandigarh ये भी पढ़िय…