अफसर वाले ट्वीट पर आमने-सामने हुए IAS खेमका और पहलवान योगेश्वर दत्त

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन सोशल-वायरल हरियाणा

Gourav Sagwal, Yuva Haryana

Chandigarh

 

हाल ही में हरियाणा सरकार द्वारा खिलाड़ियों की कमाई का 33% हिस्सा स्पोर्टस काउंसिल में जमा करवाने को लेकर सरकार की हर तरफ निंदा हो चुकी है। बढ़ते विरोध को देखते हुए सीएम मे आदेश तो वापिस ले लिए है। लेकिन खिलाड़ी और विपक्ष सरकार पर हमलावर है। इसी विवाद में पहलवान योगेश्वर दत्त और IAS अशोक खेमका आमने-सामने आ गए हैं।

बता दें कि खेमका ने ही सरकार की तरफ से वह नोटिस जारी किया था जिसमें खिलाड़ियों की आय का हिस्सा मांगा गया था। इसके बाद पहलवान योगेश्वर दत ने ट्वीट करते हुए अफसरों को निशाने पर लिया था।

योगेश्वर दत ने ट्वीट कर कहा था कि ” ऐसे अफसर से राम बचाए, जब से खेल विभाग में आए है तब से बिना सिर -पैर के तुग़लकी फ़रमान जारी किए जा रहे है।हरियाणा के खेल-विकास में आपका योगदान शून्य है किंतु ये दावा है मेरा इसके पतन में आप शत् प्रतिशत सफल हो रहे है। अब हरियाणा के नए खिलाड़ी बाहर पलायन करेंगे और SAHAB आप ज़िम्मेदार होंगे।

वहीं अब इस ट्वीट का जवाब देते हुए IAS अफरस अशोक खेमका ने पहलवान को ही नशीहत दे डाली। IAS खेमका ने ट्वीट कर कहा कि “खेल एवं पुलिस दोनों में शिष्टता शोभित है। इस अधिसूचना के पहले वाणिज्यिक विज्ञापन या व्यवसायिक खेल सरकारी कर्मचारी के लिए निषिद्ध था। आपका क्रोध एवं अपशब्द दोनों ठीक नहीं। 48 दिनों के विलंब के बाद अभी अचानक यह आक्रमक प्रतिक्रिया क्यों?

बता दें  कि खेल विभाग ने नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहा था कि अगर वे किसी प्रोफेशनल खेल में हिस्सा लेते हैं या विज्ञापन करते हैं तो उसकी कमाई का 33% हिस्सा खेल परिषद को देना होगा। सरकार के इस फैसले के बाद रेसलर योगेश्वर दत्त, बबीता फौगाट और सुशील कुमार आदि खिलाड़ियों ने इसका विरोध किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *