कोई बच्चा बोल या सुन नहीं सकता हो तो सरकार मुफ्त करवाएगी इलाज, 10 लाख से ज्यादा आता है खर्च

Breaking बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा
Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 21 May, 2018
5 वर्ष आयु तक के ऐसे बच्चे, जो सुनने व बोलने में असमर्थ हैं, उनका इलाज सरकार द्वारा करवाया जाएगा। ऐसे परिवार जिनकी मासिक आय 15 हजार रुपए तक है, उनके बच्चों के इलाज का पूरा खर्च सरकार वहन करेगी जबकि 15 हजार से 20 हजार रुपए मासिक आय के लोगों को ऐसे बच्चों के इलाज के लिए आधा खर्च स्वंय करना होगा।
ऐसे बच्चों के इलाज पर औसतन 10 से 12 लाख रुपए खर्च आता है और मंहगा इलाज होने के कारण गरीब व मध्यम वर्गीय परिवार यह इलाज नही करवा पाते थे। अब सरकार ने ऐसे लोगों को बड़ी राहत देते हुए आय सीमा निर्धारित करके निशुल्क और आधे खर्च पर इलाज की सुविधा प्रदान की है।
जिला अंबाला की उपायुक्त शरणदीप कौर बराड़ ने कहा कि कि ऐसे बच्चों के अभिभावक जिला रैडक्रास सोसायटी के कार्यालय में अपने आवास, बच्चे की आयु तथा आय के प्रमाण पत्रों के साथ सम्पर्क कर सकते हैं और वहां से बच्चे के इलाज के लिए रैड क्रास कर्मी ऑनलाईन आवेदन भी निशुल्क करवाएंगे। 
उन्होंने बताया कि सरकार ने समाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के माध्यम से ऐसे बच्चों के इलाज के लिए एडिप योजना शुरु की गई है, जिसके तहत फरीदाबाद के एक अस्पताल में सुनने और बोलने में असमर्थ बच्चों के शरीर में एक उपकरण इम्प्लांट किया जाता है।
यह उपकरण काफी मंहगा है और इलाज की प्रक्रिया भी मंहगी होने के कारण 10 से 12 लाख रुपए खर्च होते हैं।  इच्छुक व्यक्ति अपने बच्चों के इलाज के लिए दूरभाष नम्बर 0171-2530556 पर सम्पर्क कर सकते हैं।
Read This News Also>>>>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *