प्रदेश में सिंचाई व्यवस्था होगी दुरुस्त: खट्टर

बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

 

सीएम मनोहर लाल ने प्रदेश की सिंचाई व्यवस्था को दुरुस्त करने का दावा करते हुए कहा कि दक्षिण हरियाणा की लिफ्ट इरीगेशन के सुधार पर 143 करोड़ रुपये खर्च किये हैं। बिजली के मीटर खराब होने के मामले भी घटे है जो पहले 30 फीसदी थे वो अब 8 फीसदी ही रह गए हैं। मेवात जिले को अतिरिक्त पानी देने पर भी 300 करोड़ की लागत से एक योजना बनाई गई है।

माइक्रो इरीगेशन को लेकर भी प्रदेश सरकार ने योजना बनाई है और 85 फीसदी सब्सिडी दी जा रही है। सोलर सिस्टम को 11 हजार केवी से जोड़ा जा रहा है ताकि स्मार्ट मीटर से बिजली ली जा सके। सरस्वती नदी में पानी के लिए 9 डेम बनेगें ताकि उसमें नियमित जल रहे। पानी की रिचार्जिंग के लिए भी कदम उठाये है और पानी की चोरी को रोका  गया है। खट्टर ने कहा कि एसवाईएल पर जो राजनीतिक माहौल बनाया जा रहा है इसकी जरूरत नहीं है

रोजगार को लेकर दी जानकारी

मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में 2,03,000 को निजी क्षेत्र में रोजगार दिया है और इसमें सरकारी नौकरियां शामिल नहीं है। हैपनिंग हरियाणा, एमएसएमई समेत अन्य क्षेत्र में ये रोजगार मिले हैं। 2,54,600 युवाओं ने स्किल के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया है जिसमें से 1,17,000 को स्किल ट्रेनिंग दी है जिसमें से 37,000 को रोजगार मिला है। सीएम ने कहा हैपनिंग हरियाणा से 136 एमओयू पर 18 हजार करोड़ का निवेश हो चुका है।

सरकारी नौकरियों पर बड़ा बयान

खट्टर ने कहा कि प्रदेश में कर्मचारी चयन आयोग ने 55 हजार पदों के लिए विज्ञापन जारी किया है। 17,300 लोगों को मौजूदा सरकार ने सरकारी नौकरियों में चयन कर दिया है। 13 हजार टीचर्स समेत अन्य पदों की भर्ती जो पूर्व सरकार की थी लेकिन मौजूदा सरकार ने उनकों नियुक्तियां दी है।