खिलाड़ियों की जीत पर वाहवाही लूटने में आगे, इनाम देने में पीछे मनोहर सरकार

Breaking खेल चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें युवा चैम्पियन सरकार-प्रशासन हरियाणा

Yuva Haryana
Chandigarh, 4 May, 2018

राष्ट्रमंडल खेलों में हरियाणा के खिलाड़ियों ने देश ही नहीं विदेशों तक हरियाणा के नाम को रोशन कर दिया. जब भी खिलाड़ियों ने खेल के मैदान में कदम रखा तो हर बार इंडिया-इंडिया गूंजता नजर आया ।

राष्ट्रमंडल खेलों में भी हरियाणा के खिलाड़ियों का हौंसला लगातार बढ़ता गया जब वो जीत रहे थे तो पीछे से वाहवाही के ढेर लग रहे थे, लेकिन अब जब स्वदेश पहुंचे हैं तो हर राज्य ने अपने अपने खिलाड़ियों को इनाम बांट दिया लेकिन हरियाणा के खिलाड़ी अभी भी सम्मान से अछूते बैठे हैं।

हरियाणा के खिलाड़ियों ने जब शानदार प्रदर्शन किया तो खेलमंत्री ने खिलाड़ियों के लिए बड़ी घोषणा भी की. गोल्ड जीतने वाले को डेढ़ करोड़, रजत जीतने वाले को 75 लाख और कांस्य पदक जीतने पर 50 लाख रुपये देने की घोषणा भी की।

इतना ही नहीं गोल्ड और सिल्वर मेडल के हिसाब से खिलाड़ियों को HCS और HPS बनाने की भी घोषणा हुई।

लेकिन सरकार की शर्तों के आगे खिलाड़ियों को अब मायूसी के सिवा कुछ नहीं मिला है. 26 अप्रैल को हरियाणा सरकार की तरफ से खिलाड़ियों के लिए सम्मान समारोह रखा गया था, लेकिन खिलाड़ियों की नाराजगी के चलते वो रद्द हो गया।

सरकार की नई खेल नीति के तहत जो खिलाड़ी किसी अन्य संस्था से खेले हैं उनको वहां से जो राशि मिली है. उतनी काटकर खिलाड़ी को दी जाएगी, लेकिन खिलाड़ी इसका विरोध कर रहे हैं।

इसको लेकर बीजेपी के केंद्रीय राज्यमंत्री भी नाराजगी जता चुके हैं, खिलाड़ियों की अनदेखी को लेकर कई बड़े नेता भी सरकार की साख पर सवाल उठा रहे हैं।

खिलाड़ी भी सरकार की इस नीति से दबी जुबान में खफा-खफा हैं, वो खुलकर कुछ नहीं कहते लेकिन सरकार की तरफ से होने वाले सम्मान समारोह के इंतजार जरुर कर रहे हैं।

कुछ खिलाड़ी तो दबी जुबान में बोल रहे हैं कि सरकार हरियाणा की इस खेल नर्सरी में जो पौध तैयार हो रही है, उसको ठीक नहीं रखना चाहते, खिलाड़ियों का उत्साह देने की बजाय उनको उत्साह कम ही हो रहा है।

 

यह खबर भी पढ़ें >>>>हरियाणा की 3 पहचान- किसान, खिलाड़ी और जवान, सरकार कर रही इन तीनों का अपमान- भूपेंद्र हुड्डा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *