हरियाणा में विभिन्न जिलों के एड्स पीड़ित लोग कर रहे हैं ऐसा काम, जिसे जानकर आप भी करेंगे इनके जज्बे को सलाम

चर्चा में बड़ी ख़बरें युवा हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Haryana, 19-04-2018

HIV पॉजिटिव होने के बावजूद भी खुशी से जीवन कैसे बिताया जाता है, यह कोई हरियाणा में विभिन्न जिलों के एड्स पीड़ित लोगों से सिखें। जो एड्स से ग्रस्त होने के बावजूद भी अन्य लोगों के जीवन जीने की राह दिखा रहे हैं।  जी हां, हरियाणा के विभिन्न जिलों के 80 एड्स पीड़ित लोग ऐसा काम कर रहे हैं, जिसे जानकर आप भी इनके जज्बे को सलाम करेंगे।

इन लोगों का मानना है कि एचआइवी पॉजीटिव होने का मतलब जिंदगी का खत्म हो जाना नहीं होता। एड्स पीड़ित भी अन्य लोगों की तरह जीवन जी सकते हैं। विभिन्न जिलों एड्स से ग्रस्त लोगों को अभियान चलाकर जीने की राह सिखाई जा रही है।

यही नहीं,  अगर पीड़ितों की कोई समस्या होती है, तो उसका तुरंत ही समाधान भी करवाया जाता है। इसके लिए उक्त रोगियों को कई सामाजिक संगठन भी सम्मानित कर चुके हैं। पिछले कुछ समय से एड्स रोगियों की संख्या में बढ़ोत्तरी है। नेटवर्क ऑफ पॉजिटिव पीपल्स संस्था के अनुसार हरियाणा की विभिन्न जगहों पर करीब 20 हजार से ज्यादा एड़्स रोगी है।

जागरुकता के अभाव से कई बार एड्स पॉजिटिव यह सोचने लगते हैं, कि अब बीमारी से ग्रस्त होने के बाद जल्द ही उनकी मौत हो जाएगी। यहीं नहीं इसी सोच के चलते वह अपने रोजमर्रा के कार्य भी नहीं कर पाते हैं।

नेटवर्क ऑफ पॉजिटिव पीपल्स के रोहतक प्रधान ने बताया कि जीने की आस छोड़ चुके एड्स पीड़ितों को जागरुक करने के लिए रोहतक के अलावा भिवानी,सोनीपत,पानीपत,कैथल,चरखी दादरी के 80 से अधिक एड्स रोगियों ने संस्था से जुड़कर अन्य पीड़ितों को जागरुक करने का बीड़ा उठाया है।

इसके लिए उक्त पीड़ित लोगों को, जहां भी  मरीजों का पता लगता है, वे उन्हे जागरुक करने के लिए पहुंच जाते हैं। हर महीने पीड़ितों की बैठक भी अायोजित की जाती है। जिसमें विभिन्न समस्याओं पर विचार किया जाता है।
ये भी पढ़े >>
ममता हुई शर्मसार, 9 महीने की मासूम बच्ची के अखबार में लपेटकर बिलखता छोड़ गए मां-बाप

1 thought on “ हरियाणा में विभिन्न जिलों के एड्स पीड़ित लोग कर रहे हैं ऐसा काम, जिसे जानकर आप भी करेंगे इनके जज्बे को सलाम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *