आग में फंसी तीन ज़िंदगियों को बचाने की कोशिश में अपनी जान देने वाले बहादूर नैन सिंह के घर पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा

Breaking अनहोनी बड़ी ख़बरें हरियाणा

Younus Alvi, Yuva Haryana

Nuh

17 मई को सोहना के एक घर में लगी आग से महिला को बचाने को गए नैन सिंह की भी मृत्यु हो गई  थी। नैन सिंह के परिवार को सांत्वना देने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिह हुड्डा और पूर्व परिवहन मंत्री आफताब अहमद उनके गांव इंडरी पहुंचे। हुड्डा ने कांग्रेस पार्टी की ओर से पीडि़त परिवार को मदद करने का भरोसा दिया।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में फायर ब्रिगेड सुविधा फैल हो गई है। आज अगर फायर ब्रिगेड सुविधा दुरूस्त होती तो दोनों जानों को बचाया जा सकता था।

बता दें कि 17 मई को नैन सिंह सोहना में कारपेंटर का काम कर रहे थे, तभी वहीं पडोस में रवि मदान के घर में आग लग गई। आग लगने की वजह से रवि मदान की बीवी, सुमन मदान और उनके दो बच्चे इस आग में फंस गए।

आग में जाने की किसी की हिम्मत ना हुई, इसी दौरान कारपेंटर नैन सिंह हिम्मत जुटाते हुए पीडि़त औरत और उनके दो बच्चों को बचाने आग में कूद पडा। पहले उन्होंने दोनों बच्चों को घर में से सुरक्षित बाहर निकाला, इसके बाद उन्होंने महिला सुमन मदान की चीखने चिल्लाने की आवाज सुनी। उनकी आवाज सुनकर नैनसिंह एक बार दोबारा घर के अंदर गए और महिला को बचाने का प्रयास किया लेकिन दुर्भाग्यवश वह महिला को नहीं बचा पाए और अपनी भी जान गंवा बैठे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *