विदेशी सेनेटरी पैड से मुकाबला करेगा स्वदेशी सेनेटरी पैड

हरियाणा

मल्टीनेशनल कंपनियों द्वारा बेचे जा रहे सेनेटरी पैड घातक हैं और इनके नष्ट होने में भी सैकड़ों साल लगते हैं। साथ ही पर्यावरण को नुकसान पहुंचाते हैं। अब इन्हीं मल्टीनेशनल कंपनियों के सेनेटरी पैड के मुकाबले स्वदेशी मल्टीपर्पज पैड मार्केट में आ गया है, जिसे बार-बार प्रयोग में लाया जा सकता है और यह पर्यावरण को किसी भी रूप में प्रदूषित नहीं करता और इसे रिसाइकल किया जा सकता है।

सिरसा जिला प्रशासन ने स्वदेशी मल्टीपर्पज पैड के साथ एक नई मुहिम का आगाज किया है। इस मुहिम का मकसद पर्यावरण के लिए नुकसानदेह बने सेनेटरी पैड की खपत को रोकना है। इसके लिए प्रशासन ने जागरूकता कार्यक्रम शुरू किया है। इसके तहत चार मास्टर ट्रेनर महिलाएं तैयार की गई हैं जो स्कूलों व उन दूसरे स्थानों पर पहुंच रही हैं, जहां महिलाएं एकत्रित होती हैं उन्हें कपड़े से बने सेनेटरी पैड के बारे में अवगत करवा रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *