मेवात के पिछड़ेपन के लिए कांग्रेस और भाजपा सरकार है जिम्मेदार- अभय चौटाला

Breaking चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Younus Alvi, Yuva Haryana

Mewat 28 March, 2018

पूरे देश में ये बात काफी चर्चा में है कि दिल्ली के बिल्कुल नजदीक और गुरुग्राम से सटा हुआ मेवात क्षेत्र देश के सबसे पिछड़े जिलों में पहले नंबर पर है।

केंद्र सरकार के नीति आयोग की मानें तो देश के 101 संभावना वाले (या पिछड़े) जिलों में भी हरियाणा का मेवात सबसे पिछड़ा है।

इसके बाद तेलंगाना का आसिफाबाद, मध्य प्रदेश का सिंगरौली, नगालैंड का किफिरे और उत्तर प्रदेश का श्रावस्ती पांच सबसे पिछड़े जिलों में शामिल हैं।

लेकिन शायद इनेलो नेता अभय चौटाला को ये बात पसंद नहीं आई।

चौटाला ने केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा है कि मेवात इलाका एनसीआर का हिस्सा होने के बावजूद भी देश के सबसे पिछड़ों में आना, ये  केंद्र सरकार के लिए डूबकर मरने की बात है।

जब- जब इनेलो की प्रदेश में सरकार रही मेवात को मूलभूत सुविधाएं देने का प्रयास किया गया। मेवात को इनेलो ने जिला बनाया,  हर शोबे में हिस्सेदारी मेवात को दी गई।

इसके बाद उन्होंने नूहं बार एसोसिएशन में वकीलों को संबोधित किया। अभय चोटाला ने नूहं बार को 5 लाख रुपए अपने निजी कोष से देने की घोषणा भी की।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *