Home Breaking इनेलो-बसपा गठबंधन सरकार बनने पर करेंगे किसानों का कर्जमाफ, खेतों की बिजली भी होगी फ्री

इनेलो-बसपा गठबंधन सरकार बनने पर करेंगे किसानों का कर्जमाफ, खेतों की बिजली भी होगी फ्री

0
0Shares
Yuva Haryana
Panipat, 31 Oct, 2018
नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने इनेलो-बसपा कार्यकर्ता सम्मेलन पानीपत में सरकार की किसान विरोधी मानसिकता की निंदा करते हुए कहा कि प्रदेश का किसान पहले ही कर्जे की मार झेल रहा था, उस पर भाजपा सरकार की किसान विरोधी नीतियों ने उसकी कमर तोडऩे का काम किया है।
अभय सिंह चौटाला ने कहा कि किसान की आर्थिक हालत में सुधार हो उसके लिए भाजपा सरकार को कर्जमाफी करनी चाहिए थी लेकिन उसके विपरीत किसान के शोषण और लूटने की नीतियां बनाकर बदहाल कर दिया है। उन्होंने कहा कि चार साल से किसानों को फसल बीमा योजना के नाम पर लूटने वाली भाजपा ने बे-मौसमी बारिश से बर्बाद फसलों का मुआवजा अभी तक नहीं दिया। उन्होंने कहा कि मुनाफाखोरों को लाभ पहुंचाने के लिए सरकार ने धान की फसल को नमी के नाम पर निर्धारित मूल्य से 250 से 300 रुपए प्रति क्विंटल कम दामों पर खरीदा।
नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि भाजपा सोची-समझी साजिश के तहत हरियाणा प्रदेश को पिछड़वाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि आज कोई वर्ग ऐसा नहीं है जो सरकार की नीतियों के खिलाफ सडक़ों पर धरने प्रदर्शन न कर रहा हो। भाजपा ने चुनाव से पूर्व झूठे वादे कर हर वर्ग को गुमराह करने का काम किया है। भाजपा के झूठे वादों का सबसे बड़ा शिकार पढ़ा-लिखा युवा वर्ग है जो आज बेरोजगार है।
नेता विपक्ष ने ओम प्रकाश चौटाला द्वारा प्रदेश की जनता से किए गए वादों को दोहराते हुए कहा कि इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर पहली कलम से किसानों की कर्जमाफी की जाएगी साथ ही किसानों के ट्यूबवैल के बिजली बिल समाप्त कर दिए जाएंगे और सभी घरों में बिजली के बिल आधे कर दिए जाएंगे। नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि प्रदेश के हर एक घर में एक शिक्षित युवा को सरकारी नौकरी दी जाएगी वहीं अगर कोई रोजगार से चूक गया तो उन युवाओं को 15 हजार बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा।
नेता विपक्ष ने गठबंधन की सरकार बनने पर गरीब व छोटे दुकानदारों के भी ऋण माफ करने का वादा किया साथ ही उन्होंने गरीब परिवारी की बेटियों की शादी के लिए 5 लाख रुपए कन्यादान की राशि दी जाएगी। रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल का समर्थन करते हुए अभय सिंह चौटाला ने सरकार हठधर्मिता छोड़ कर्मचारियों की मांगे मानने की मांग की। इस दौरान इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, प्रदेश उपाध्यक्ष ओपी माटा, इनेलो जिलाध्यक्ष सुरेश काला और प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण आत्रेय सहित अनेकों इनेलो-बसपा गठबंधन के नेता व कार्यकर्ता शामिल थे।
Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

भिवानी बोर्ड की एक जुलाई से 15 जुलाई तक होगी बची परीक्षाएं, 10 दिन पहले जारी होगी डेटशीट

Yuva Haryana, Bhiwani हरियाणा वि…