सरपंचो की मांगो को अभय चौटाला का समर्थन, कहा CM ने किया सरपंचो से अभद्र व्यवहार

Breaking बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने बुधवार को मुख्यमंत्री के निवास स्थान पर पंचों और सरपंचों के साथ हुए दुर्व्यवहार की कड़ी निंदा की है। अभय चौटाला ने कहा है कि मुख्यमंत्री अपने व्यवहार पर खेद व्यक्त करने के साथ उनकी सभी जायज मांगों को तुरंत स्वीकार करें।

अभय ने कहा कि हरियाणा के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ होगा जब जनता के प्रतिनिधियों को मुख्यमंत्री द्वारा अपने निवास पर मांगों के लिए बातचीत करने के लिए आमंत्रित किया गया हो और फिर बिना गौर किए उन्हें रद्द करते हुए धमकियां भी दी गई हो। ऐसा व्यवहार अभद्रता की सीमा को भी पार करता है जिसकी अपेक्षा मुख्यमंत्री से नहीं की जाती है।

उन्होंने पंचों और सरपंचों की न केवल पहले से की गई मांगों का समर्थन किया बल्कि यह भी कहा कि अपने विरोध में वह जो अगला कदम गांवों में जाकर उठाने वाले हैं उनका भी वह समर्थन करते हैं।

बता दें कि पंचों और सरपंचों ने यह निर्णय लिया है कि सरकार के व्यवहार के विरोध में वे गांवों में जाकर सभी ब्लॉक दफ्तरों में ताले लगाकर कामकाज को तब तक ठप्प करेंगे जब तक सरकार उनकी मांगों को मान नहीं लेती।

अभय सिंह चौटाला ने यह भी चेतावनी दी कि सरकार को ऐसे हथकंडों को त्याग देना चाहिए जिनसे उन सभी को बांटने का प्रयास किया जाता है जो सरकार के साथ सहमत न हों और जिनकी मांगें सरकार की नीति के साथ मेल न खाती हों। ऐसे प्रयास सरकार पंचों और सरपंचों के साथ कर रही है जो निंदनीय है।

साथ ही अभय चौटाला कहा कि इनेलो द्वारा पहले से ही यह मांग की जा रही है कि पंचायतों के कार्यप्रणाली को फिलहाल ऑनलाइन न किया जाए क्योंकि गांवों में न तो वह सुविधाएं उपलब्ध हैं जो इस प्रणाली को सुचारू रूप से चलाने के लिए आवश्यक हैं और न ही सभी पंच और सरपंच ऑनलाइन बैंकिंग प्रक्रिया से पर्याप्त रूप से परिचित हैं। संविधान ने पंचायतों को स्वायत्तता दी है ताकि वे अपने क्षेत्र में अधिक विकास कर सकें लेकिन मौजूदा सरकार उन पर पाबंदियां लगाने का काम कर रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *