9 अक्तूबर तक फसलों के नुकसान की गिरदावरी शुरू नहीं हुई तो इनेलो-बसपा छेड़ेंगे बड़ा आंदोलन, राजस्व अधिकारियों का होगा घेराव

Breaking खेत-खलिहान बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Yuva Haryana

विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने पत्र लिखकर सरकार को अल्टीमेटम दिया है कि अगर बारिश की वजह से खराब हो चुकी फसल से संबंधित किसानों की मांगों को लेकर तुरंत कार्रवाई नहीं होती है तो इनेलो 9 अक्तूबर से सरकार के खिलाफ किसान हित में बड़ा आंदोलन खड़ा करेगी। उन्होंने कहा कि आंदोलन के दौरान इनेलो-बसपा कार्यकर्ता राजस्व अधिकारियों का घेराव करेंगे।

उन्होंने इस बात पर भी खेद व्यक्त किया कि लाखों किसानों की फसल मौसम की मार से बर्बाद हो चुकी है बावजूद इसके सरकार ने अभी तक कोई ऐसी घोषणा नहीं की जिससे पीडि़त किसानों को राहत मिले। उन्होंने सरकार के किसानों के प्रति इस नकारात्मक रवैये की आलोचना भी की।
पिछले दिनों लगातार भारी बारिश की वजह से प्रदेश में लाखों एकड़ फसल खराब हो जाने को लेकर चिंतित नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। जिसमें अभय सिंह चौटाला ने सरकार से मांग की कि वह तुरंत प्रभाव से खराबे का आंकलन करने के लिए तुरंत गिरदावरी करवाए।
उन्होंने यह भी मांग की कि सरकार खराबे की एवज में किसानों को कम से कम प्रति एकड़ 25,000 रुपए मुआवजा दिया जाए साथ ही किसानों के खेतों में जमा पानी की निकासी के लिए सरकार पम्प उपलब्ध करवाए ताकि किसान अगली फसल की बिजाई के लिए खेत तैयार कर सके।
अभय चौटाला ने यह भी कहा कि भाजपा सरकार की नीतियां किसान और कमेरे वर्ग के आर्थिक आधार को कमजोर करने वाली हैं जिसके कारण आज प्रदेश का किसान कर्ज की मार झेल रहा है। पिछले दिनों हुई भारी बारिश ने किसानों की कमर तोड़ दी है। इसलिए इनेलो मांग करती है कि प्रदेश में जितने भी किसान कर्जे में हैं उनका एक साल का ब्याज माफ किया जाए। सरकार को समझना चाहिए कि फसल खराब होने से किसानों की कमर टूट चुकी है। इसलिए सरकार को मामले की गंभीरता को समझते हुए जरूरी कदम उठाने चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *