पुलिस की गलत जांच की वजह से बेगुनाह रहा पांच साल सलाखों के पीछे, दुष्कर्म का लगा था झूठा आरोप

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana,

Rohtak, 09 Feb,2019

“सौ गुनाहगार बच जांए, पर किसी बेगुनाह को सजा नहीं मिलनी चाहिए।” लेकिन सांपला गांव के बी.कॉम के छात्र प्रिंस को पुलिस की गलत जांच की वजह से न केवल अपनी जिंदगी के पांच साल जेल में काटने पड़े, बल्कि उसका हंसता खेलता परिवार तबाह हो गया।

दरअसल पुलिस ने बगैर किसी पुख्ता सबूत के प्रिंस पर न केवल दुष्कर्म का आरोप लगाया बल्कि उसके बार-बार कहने पर भी कि घटना के वक्त वह सिनेमा हॉल में फिल्म देख रहा था, पुलिस ने सिनेमा हॉल की सीसीटीवी फुटेज को देखना जरूरी नहीं समझा। पुलिस की उसी रिपोर्ट के आधार पर कोर्ट ने पांच साल की सजा सुना दी।

बेटे के जेल जाते ही सुखी जीवन जी रह परिवार दो वक्त के खाने को मोहताज हो गया। जेल जाते ही पिता को लकवा लग गया, समाज में बदनामी के कारण बहन के रिश्ते आने बंद हो गए।

अब पांच साल बाद हाइकोर्ट ने प्रिंस को बरी कर दिया है। इस मामले ने पुलिस प्रशासन की कार्यशैली पर सवाल खड़ा कर दिया है।

जानिए पूरा मामला…

13 सितंबर 2013 को सांपला के एक व्यक्ति ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई की उसकी चार वर्षिय बेटी के साथ कस्बे के ही एक व्यक्ति ने दुष्कर्म किया है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया और कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया। 31 मार्च 2016 को सुनवाई के दौरान अतिरिक्त जिला एंव सत्र न्यायधीश की अदालत ने उम्र कैद की सजा और 20 हजार का जुर्माना लगा जेल भेज दिया।

इसके बाद परिजनों ने हाइकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। जिसके बाद 4 दिसंबर 2018 को अतिरिक्त जिला एंव सत्र न्यायधीश आरपी गोयल को मामले की दोहारा जांच के आदेश दिए और साथ ही प्रिंस को जमानत भी दे दी। इसके बाद तीन माह तक चली सुनवाई के बाद प्रिंस को बेगुनाह करार देते हुए बरी कर दिया गया।

पुलिस की कदम कदम पर लापरवाही…

प्रिंस और परिजनों के बार बार कहने पर भी सोनीपत रोड स्थित सत्यम मॉल की सीसीटीवी फुटेज नहीं देखी।

दो अक्टूबर 2013 को जांच पूरी होने पर भी पुलिस ने कोर्ट को गुमराह करते हुए, बच्ची के दोबारा से कोर्ट में बयान दर्ज करवा दिए।

बच्ची के पिता ने कोर्ट में बार-बार अपने बयान बदले, लेकिन पुलिस ने बच्ची के पिता से कोई पुछताछ नहीं की।

सीसीटीवी फुटेज ने दिलाया न्याय….

जिस वक्त घटना हुई उस वक्त प्रिंस सांपला गांव से 25 किलोमीटर दूर रोहतक में था और कॉलेज से बंक मार के फिल्म देखने गया था। पुलिस शिकायत में वारदात सुबह 10:30 बजे की दिखाई गई है, जबकि 10 बजे प्रिंस की मॉल के अंदर एंट्री थी और सीसीटीवी फुटेज में वह सीढ़ियों पर चढ़ता हुआ साफ दिखाई दे रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *