अब अन्य राज्यों में भी मजबूत होगी जेजेपी की छात्र इकाई इनसो

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana

हरियाणा में छात्र संघ चुनाव की आवाज बुलंद करने वाली जननायक जनता पार्टी की छात्र इकाई इंडियन नेशनल स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन (INSO) अब हरियाणा के साथ-साथ अन्य राज्यों में भी अपनी पकड़ मजबूत बनाएगी। इसके लिए इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटालाइनसो प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप देसवालजेजेपी बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. जगदीश काद्यानमोनिका व अन्य वरिष्ठ नेताओं ने एक बैठक कर जेजेपी व इनसो के वरिष्ठ नेताओं को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां सौंपी है। इनसो ने आगामी वर्ष दिल्लीयूपीपंजाबराजस्थानचंडीगढ़ में होने वाले छात्र संघ के चुनावों को मजबूती के साथ लड़ने का लक्ष्य रखा है। 

बैठक के बाद दिग्विजय चौटाला ने बताया कि पार्टी ने चौधरी देवीलाल की नीतियों और डॉ अजय सिंह चौटाला की प्रेरणा से बनाए गए संगठन इनसो को उत्तर भारत के हरियाणा के सीमावर्ती राज्यों में मजबूत बनाने का फैसला लिया है। इसके लिए कई वरिष्ठ नेताओं को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां सौंपी गई है।

उन्होंने कहा कि वे खुद और जेजेपी मेनिफेस्टो कमेटी के प्रमुख पूर्व वाइस चांसलर अभय सिंह मौर्य दिल्ली और चंडीगढ़ में इनसो को मजबूत करने का काम करेंगे। वहीं पंजाब राज्य में इनसो की मजबूती के लिए हरियाणा इनसो के प्रभारी प्रो. रणधीर चीका को कमान सौंपते हुए महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गई है।

इसी तरह पश्चिमी यूपी में जेजेपी प्रदेश प्रवक्ता अरविंद भारद्वाज और रणपाल इनसो का छात्र संगठन खड़ा करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। वहीं जेजेपी कर्मचारी प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष संजीव मंदोला राजस्थान के विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों में ज्यादा से ज्यादा युवाओं को इनसो के साथ जोड़ेंगे।

दरअसल, 9 दिसंबर 2019 को सिरसा में हुई पार्टी कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी ने इनसो को अन्य राज्यों में मजबूत करने के लिए दिग्विजय चौटाला के नेतृत्व में एक कमेटी का गठन किया था। इस कमेटी में इनसो प्रभारी प्रो. रणधीर चीकाइनसो प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप देसवालजेजेपी कर्मचारी प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष संजीव मंदोलाजेजेपी प्रदेश प्रवक्ता अरविंद भारद्वाजजेजेपी बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. जगदीश काद्यान और पूर्व कुलपति अभय सिंह मौर्या शामिल है जो कि समय-समय पर बैठकें कर इनसो को मजबूत करने की दिशा में काम रहे है। इसी मद्देनजर आज की हुई बैठक में विस्तारपूर्वक चर्चा के बाद ये फैसले लिए गए। बैठक के बाद दिग्विजय चौटाला ने विश्वास जताया कि जल्द हरियाणा की तरह अन्य राज्यों में भी इनसो छात्रों की आवाज बुलंद करने का काम करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *