धूल से बना एमरजेंसी जैसा हाल, आधे हरियाणा में निर्माण कार्य तुरंत रोकने के आदेश, सरकार ने जारी की हिदायतें

Breaking Uncategorized अनहोनी चर्चा में देश बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन सेहत हरियाणा हरियाणा विशेष

हरियाणा समेत उत्तर भारत के कई हिस्सों पर छाई धूल की परत अब गंभीर हो चली है। केंद्र सरकार के निर्देश पर हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने नागरिकों के लिए हिदायतें जारी की हैं। बोर्ड ने बताया है कि हवा में धूल की मात्रा ‘Severe Plus’ यानी अत्यधिक है। हवा में PM10 और PM2.5 धूलकणों की मात्रा खतरनाक स्तर तक बढ़ चुकी है जो लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर डालने वाली है।

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिल्ली के आसपास के क्षेत्र और एनसीआर में शामिल हरियाणा के 13 जिलों के उपायुक्तों, नगर निगम, नगर परिषद प्रमुखों को निर्देश दिया है कि अगले 48 घंटों में धूल की मात्रा को बढ़ने से रोकने के लिए युद्ध स्तर पर काम करें। बोर्ड की हिदायतें हैं कि –

-जितना संभव हो पानी का छिड़काव कर  प्रभावित क्षेत्रों में धूल को जमाने की कोशिश करें

– विशेष टीमों की तैनाती कर सुनिश्चित करें कि कहीं भी कूड़ा-कचरा जलाया ना जा रहा हो

– ज्यादा धूल वाली सड़कों की पहचान करें और वहां बार-बार मशीनों से सफाई करवाएं

– यह सुनिश्चित किया जाए कि अगले 48 घंटों तक कहीं भी किसी भी तरह का निर्माण कार्य ना हो

– क्षेत्र में चल रहे स्टोन क्रशर प्लांट और हॉट मिक्स प्लांट आदि को तुरंत बंद करवाया जाए और 48 घंटे तक चलने ना दिया जाए

 

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की तरफ से जारी हिदायत में कहा गया है कि अगर 48 घंटे तक धूल की यह स्थिति बरकरार रहती है तो ग्रेडिड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान के मुताबिक कदम उठाए जाएंगे। वह स्थिति वाकई आपात स्थिति होगी और लोगों को धूल के असर से बचाने के लिए व्यापक कदम जरूरी हो जाएंगे।

उधर मौसम विभाग ने भी आशंका जताई  है कि कई हिस्सों में यह स्थिति अगले कुछ दिनों के लिए बरकरार रह सकती है। हरियाणा के मौसम में यह बदलाव राजस्थान और उससे आगे के क्षेत्रों की तरफ से धूल भरी हवाएं आने के कारण आया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *