Home Breaking ग्रुप C और D के इन्टरव्यू खत्म, जिन परिवारों में सरकारी नौकरी नहीं उन्हें मिलेगा 5 का लाभ -मंत्रिमंडल

ग्रुप C और D के इन्टरव्यू खत्म, जिन परिवारों में सरकारी नौकरी नहीं उन्हें मिलेगा 5 का लाभ -मंत्रिमंडल

0
0Shares

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि यदि चल रही भर्तियों के लिए लिखित परीक्षा हो चुकी है तो साक्षात्कार लिया जाएगा। बहरहाल, ऐसे मामले जहां अभी लिखित परीक्षा होनी है उनके लिए नए विज्ञापन जारी दिए जाएंगे और साक्षात्कार नहीं लिया जाएगा।
90 अंक की लिखित परीक्षा और सामाजिक-आर्थिक मानदंड और अनुभव के लिए 10 अंक सहित कुल 100 अंक होंगे। यदि आवेदक के पिता, माता, पति या पत्नी, भाई, बहन, बेटे और बेटी में से कोई भी व्यक्ति हरियाणा सरकार या किसी अन्य राज्य सरकार या भारत सरकार के किसी भी विभाग, बोर्ड, निगम, कंपनी, वैधानिक निकाय, आयोग या प्राधिकरण में नियमित कर्मचारी नहीं है तो उसे इसमें से पांच अंक दिए जाएंगे।

 

बेसहारा को अतिरिक्त अंक, अनुभव के अधिकतम 8 अंक

अनाथ या विधवा के मामले में पांच अंक दिए जाएंगे अर्थात यदि आवेदक एक विधवा है या मृतक का पहला या दूसरा बच्चा है, जिसका पिता 42 वर्ष की आयु के पूरा होने से पहले मर गया है। इसी तरह, अगर आवेदक एक प्रथम या द्वितीय बालक है और 15 वर्ष की आयु पूरी करने से पहले उसके पिता की मृत्यु हो गई थी। अगर आवेदक ऐसी विमुक्त जाति, टपरीवास जाति या घुमन्तू जनजाति से है जोकि अनुसूचित जाति और पिछड़े वर्ग में शामिल नहीं है को पांच अंक दिए जाएंगे।
अनुभव के लिए अधिकतम आठ अंक निर्धारित किए गए हैं। हरियाणा सरकार किसी भी विभाग या बोर्ड या निगम या कंपनी या वैधानिक निकाय या आयोग या प्राधिकरण में उसी या उच्च पद पर अधिकतम 16 वर्षों के अनुभव में छ: महीने से अधिक के हिस्से या प्रत्येक वर्ष का आधा अंक होगा। छ: महीनों से कम किसी भी अवधि के लिए कोई अंक नहीं दिया जाएगा। किसी भी परिस्थिति में किसी भीआवेदक 10 अंकों से अधिक नहीं दिए जाएंगे। चयन के दौरान विज्ञाप्ति रिक्तियों के 25 प्रतिशत तक की प्रतीक्षा सूची तैयार की जाएगी।

 

पुलिस की भर्ती में भी इन्टरव्यू खत्म

मंत्रिमंडल की बैठक में कॉन्सटेबल और सब इंस्पेक्टर की सीधी भर्ती के मामले में अतिरिक्त योग्यता (10 प्रतिशत वेटेज) और विविध (10 प्रतिशत वेटेज) को शामिल करने और साक्षात्कार समाप्त करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।
कॉन्सटेबल के रैंक की सभी रिक्तियों को और सब इस्पेक्टर के रैंक में कुल पदों में से 50 प्रतिशत (अस्थायी और स्थायी दोनों) पदों को सीधी भर्ती द्वारा हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से भरा जाएंगे। सीधी भर्ती से भरी जाने वाली रिक्तियों में से तीन प्रतिशत रिक्तियों को उत्कृष्ट खिलाडिय़ों से भरा जाएगा।

पुलिस की भर्ती में अब इन्टरव्यू की जगह अतिरिक्त योग्यता और पारिवारिक स्थितियों के हिसाब से अंक मिलेंगे

शैक्षणिक योग्यता के पहले कार्यक्रम के अनुसार स्वीपर, चौकीदार और स्वीपर-सह-चौकीदर को छोडक़र ग्रुप डी के सभी पदों के मामले में शैक्षणिक योग्यता मान्यताप्राप्त बोर्ड से हिंदी या संस्कृत के साथ मैट्रिक निर्धारित की गई है। यह सीधी भर्ती और सीधे भर्ती के अलावा दोनों के लिए लागू होगीा। इसके अलावा, सीधे भर्ती के अलावा, प्रासंगिक पद का दो साल का अनुभव होना चाहिए।

 

स्वीपर, चौकीदार और स्वीपर-सह-चौकीदार के पदों के मामले में सीधी भर्ती के साथ-साथ अन्य भर्ती प्रक्रिया के लिए शैक्षणिक योग्यता पढऩे और लिखने का ज्ञान होगी। सीधे भर्ती के अलावा अन्य प्रकार से नियुक्ति के लिए, उम्मीदवार को प्रासंगिक पद का दो साल का अनुभव भी होना चाहिए।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Yuva Haryana Top News में पढ़िए प्रदेश की सभी छोटी-बड़ी खबरें फटाफट

Yuva Haryana Top news, 08 Aug. 2020 1. हरियाणा &…