अब हरियाणा में दिखेगी इजराइली तकनीकें, शिक्षा और कृषि में दिखाई रुचि

Breaking खेत-खलिहान दुनिया देश बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

इजराइल ने शिक्षा, नवाचार, पुलिस, सिंचाई और डेरी के क्षेत्र में हरियाणा के साथ परस्पर सहयोग में गहरी रुचि दिखाई है, साथ ही विभिन्न प्रकार की चल रही कृषि और बागवानी परियोजनाओं में सहयोग देने की भी बात कही है।

इज़रायल के राजदूत डेनियल कार्मन ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात की और मुख्यमंत्री को आगामी 8 मई से 10 मई 2018 तक होने वाले एग्रीटैक-2018 में भाग लेने हेतु इज़राइल आने के लिए आमंत्रित किया।

हरियाणा में उत्कृष्टता केंद्र स्थापित करने के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने हाल ही में कुरुक्षेत्र में भारत-इजरायल परियोजना के तहत स्थापित देश का पहला एकीकृत मधुमक्खी विकास केंद्र का उद्घाटन किया है।

डैनियल कार्मन ने कहा कि हरियाणा में भारत-इजरायल परियोजना के तहत उत्कृष्टता के चार केंद्र स्थापित किए गए हैं और पांचवें ऐसे केंद्र की स्थापना के लिए काम चल रहा है। उन्होंने हरियाणा के सहयोग से संतोष व्यक्त किया और उम्मीद जताई कि राज्य में इस तरह के अन्य केन्द्रों को भी स्थापित करने के लिए यह एक द्वार का काम करेगा।

इसराइल के राजदूत ने राज्य सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि हरियाणा के लोगों को इजरायल के विश्वविद्यालयों में एमएएसएचएवी पाठ्यक्रमों में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करें क्योंकि इन पाठ्यक्रमों की राज्य में काफी मांग है। उन्होंने कहा कि ये अल्पावधि पाठ्यक्रम हैं और यात्रा किराया को छोड़कर पूरा खर्च विश्वविद्यालय द्वारा वहन किया जाएगा। इसके अलावा, उन्होंने अकादमी छात्रवृत्ति योजना के तहत हरियाणा के छात्रों को भी आमंत्रित किया।

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओ.पी.धनखड़ ने रोहतक में होने वाले तीसरे कृषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए डैनियल कार्मन को आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि पिछले साल भी, इजराइल का एक प्रतिनिधिमंडल शिखर सम्मेलन में भाग लेने आया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *