Home Breaking सांसद धर्मबीर ने अपनी सरकार पर खड़े किए सवाल कहा, खिलाडियों का सम्मान न कर पाना बड़े शर्म की बात

सांसद धर्मबीर ने अपनी सरकार पर खड़े किए सवाल कहा, खिलाडियों का सम्मान न कर पाना बड़े शर्म की बात

0
0Shares

Pradeep Dhankhar, Yuva Haryana

Bhadurgar

खिलाड़ियों के सम्मान को लेकर भाजपा सांसद और हरियाणा तैराकी संघ के अध्यक्ष धर्मबीर ने अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा  कर दिया है। बहादुरगढ में धर्मबीर ने कहा कि खिलाडियों का सम्मान न कर पाना बड़े शर्म की बात है। उन्होंने कहा कि ये अच्छा नही की विजेता खिलाड़ियों का अब तक सम्मान नही हुआ।

उन्होंने कहा कि खिलाड़ी किसी एक परिवार का नही होता। खिलाड़ी देश के लिए खेलता है इसलिए देश को भी खिलाड़ी के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। उन्होंने कहा कि विदेशों की तर्ज़ पर हिंदुस्तान को भी प्राइमरी लेवल से ही खिलाड़ियों का सारा खर्च उठाना चाहिए। धर्मबीर जी ने कहा कि  हमें खिलाड़ियों के उत्साह को बढ़ाने के लिए उनका सम्मान करना चाहिए ये सोचे बिना की उसने कंहा और किस प्रदेश के लिए खेला।

धर्मबीर का मानना है कि खेल पॉलिसी को भी खिलाड़ियों के हित में मजबूत बनाकर खिलाड़ियों को स्पोर्ट करना चाहिए। हरियाणा तैराकी संघ के अध्यक्ष और सांसद धर्मबीर बहादुरगढ में हरियाणा तैराकी टीम की चयन प्रक्रिया शुरू कराने आये थे।  बहादुरगढ की एचएल सिटी के स्विमिंग पूल पर नेशनल तैराकी प्रतियोगिता के लिए टीम का चयन किया गया।

अगले महीने पूना में 35 वीं सब जूनियर और 45 वीं जूनियर नेशनल स्विमिंग चैंपियनशिप होनी है। उसी में भाग लेने के लिए हरियाणा की टीम का चयन किया गया है। चयन प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रदेश भर से 296 ब्वायज और गर्ल्स तैराकों ने भाग लिया।

खिलाड़ियों का हौसला अफजाई करते हुए धर्मबीर सिंह ने कहा कि हरियाणा के तैराक अब काफी बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं और आने वाले दिनों में हरियाणा के तैराक न केवल नेशनल मैडल बल्कि इंटरनेशनल मैडल भी जीतकर लाएंगे।

धर्मबीर ने  यंहा कहा कि हरियाणा की माटी का किसान देश में सबसे अधिक अन्न का उत्पादन करता है। छात्र सबसे अधिक अंक ला रहे है,खिलाड़ी सबसे ज्यादा मैडल और हरियाणा के युवा फ़ौज में सबसे ज्यादा जाकर देश की रक्षा करते है इसलिए सरकारों को इन चारों को सबसे ज्यादा स्पोर्ट करना चाहिए।

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा में सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों अधिकारियों की ड्यूटी को लेकर दिशानिर्देश, देखें

Yuva Haryana, Chandigarh हरियाणा लॉ&…