प्रदेश में कई आईटीआई संस्थान होंगे अपग्रेड, नई बिल्डिंग बनाने पर भी जोर

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा
Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 20 June, 2018
हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय (एचवीएसयू) द्वारा स्नातकोत्तर डिप्लोमा, पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री-मास्टर ऑफ स्किल्स या मास्टर वोकेशन और कौशल या व्यवसाय में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा प्रदान करने के अतिरिक्त कौशल के चयनित क्षेत्र में और अधिक लंबवत गतिशीलता प्रदान करने के लिए कौशल में डॉक्टोरल डिग्री शुरू की जाएगी।
कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री विपुल गोयल ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि प्रत्येक आईटीआई के लिए फिटर की एक एनसीवीटी इकाई और मशीनिस्ट की एक एनसीवीटी इकाई के लिए राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान रोहतक और गुरुग्राम के लिए दोहरी प्रशिक्षण प्रणाली हेतु मारुति सुजुकी इंडिया के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। 
गोयल ने कहा कि एचवीएसयू, एक रणनीति के रूप में दोहरे व्यावसायिक शिक्षा मॉडल को अपनाएगा, जिसमें चयनित छात्रों को एक एकीकृत कार्य और अध्ययन मॉडल में अपनी उच्च शिक्षा को आगे बढ़ाने का प्रस्ताव दिया जाएगा। उनका समस्त कार्य अध्ययन राष्ट्रीय कौशल योग्यता फ्रेमवर्क की आवश्यकता के अनुसार तैयार किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि जिला फतेहाबाद के गांव जाखल, जिला फरीदाबाद के सिक्रोना, जिला पानीपत के बराना, जिला करनाल के इंद्री, जिला महेन्द्रगढ़ के सेहलांग व सतनाली, जिला गुरूग्राम के मुसेदपुर और जिला अम्बाला के हसनपुर व नाहोनी, जिला सोनीपत के राई, जिला यमुनानगर के नाचरोन, जिला जींद के महाराजा जस्सा सिंह सफीदों, जिला सिरसा के अलीका, जिला फतेहाबाद के दारसुल कलां व जाखनदादी, जिला सोनीपत के खेवड़ा, जिला सिरसा के जीवन नगर और जिला सोनीपत के जुआन में राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान स्थापित करने का एक प्रस्ताव है।
उन्होंने कहा कि 22 राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों को मॉडल आईटीआई में अपग्रेड किया जाएगा, जिनमें अंबाला शहर, भिवानी, खुड्डान, कुरुक्षेत्र, महेंद्रगढ़, नूंह, पलवल, पंचकूला, पानीपत, रेवाड़ी, सिरसा, सोनीपत, टोहाना, यमुनानगर, चरखी दादरी (महिलाएं), फरीदाबाद (महिलाएं), गुरुग्राम (महिलाएं), हिसार (महिलाएं), जींद (महिलाएं), पुंडरी (महिलाएं) करनाल (महिलाएं) और रोहतक (महिलाएं) शामिल हैं।

 

उन्होंने कहा कि सभी पात्र निजी प्रतिष्ठानों को ट्रेड अप्रेंटिसिज लगाने के लिए अप्रेंटिस अधिनियम-1961 के तहत पंजीकृत करवाना होगा। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत 21,000 प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षित करने और हरियाणा कौशल विकास मिशन के तहत 2,78,089 प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि परियोजना के तहत मौजूदा आईटीआईज को मॉडल आईटीआईज में अपग्रेड करने के लिए भारत सरकार द्वारा जारी 3.50 करोड़ रुपये के फण्ड का उपयोग किया जाएगा। इसके साथ ही राजकीय आईटीआई गुरुग्राम के लिए 1.50 करोड़ रुपये के राज्य के हिस्से का भी उपयोग किया जाएगा। 
उन्होंने कहा कि राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान सफीदों (जींद) और नल्वी (कुरूक्षेत्र) के भवनों का निर्माण और राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान शाहबाद (कुरूक्षेत्र) के भवन का विस्तार करने के अतिरिक्त राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान राई (सोनीपत), नंदगांव (भिवानी), नाचरोन (यमुनानगर) और अलीका (सिरसा) के भवनों का निर्माण करने का भी एक प्रस्ताव  है। 
उन्होंने कहा कि सरकार की एमएसडीपी योजना के तहत राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान जीवन नगर (सिरसा), जाखनदादी, दारसुल कलां (फतेहाबाद), मसिता और बड़ागुढ़ा (सिरसा) के भवनों का निर्माण किया जाएगा।
प्रदेश की राजकीय और निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में लगातार तीसरी बार ऑनलाइन काउंसलिंग-सह-दाखिला किया गया है। दो नए ट्रेड अर्थात मृदा परीक्षण और फसल तकनीशियन और भौगोलिक सूचना सहायक शुरू किए गए हैं।
राजकीय और निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में 90,106 स्वीकृत सीटों के विरूद्ध 72,293 उम्मीदवारों का दाखिला किया गया, जिसमें राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में 50,795 और निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में 21,498 शामिल हैं।
सत्र 2017-18 से सात नए राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान बापोली, मतलौडा, फरमानाखास, रानियां, छछरौली, मुस्तफाबाद और खरखौदा में शुरू किए गए हैं। राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत कवर किए गए 307 शहरी गरीब उम्मीदवारों को कौशल विकास पहल योजना के तहत प्रशिक्षित किया गया है और 15 परीक्षण केन्द्रों को ‘प्रत्यक्ष उम्मीदवार आकलन’ के लिए इस योजना के तहत पंजीकृत किया गया है।
हरियाणा कौशल विकास मिशन के तहत विभिन्न नौकरियों के लिए 65,639 प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण दिया गया है। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत 13 प्रशिक्षण प्रदाताओं को 3,750 प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण देने का लक्ष्य आवंटित किया गया है। 38,082 अप्रेंटिसिज (प्रशिक्षु) को लगाया गया है और 9812 प्रतिष्ठानों का अप्रेंटिस अधिनिमय के तहत पंजीकरण किया गया है।
हरियाणा ने प्रति लाख की आबादी पर अधिकतम अप्रेंटिसिज (प्रशिक्षु) को लगाने के लिए चैम्पियन ऑफ चेंज नैशनल अवार्ड 2017 प्राप्त किया है और 498 जॉब फयर्स, कैम्पस व साक्षात्कारों का आयोजन किया गया, जिनमें 30,935 उम्मीदवारों को नौकरियां या अप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण की पेशकश की गई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *