जाटों के विरोध के बाद, बाईक रैली को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) की सरकार को फटकार

हरियाणा विशेष

अमित शाह की जींद रैली को लेकर विवाद लगता है अभी थमने के नाम नहीं ले रहे हैं। जाट नेता यशपाल मलिक ने कहा है कि रैली में BJP कार्यकर्ताओं से ज्यादा जाट पहुंचेंगे, हम 1 ट्रैक्टर के पीछे 4-4 ट्रॉली लगाकर रैली में 9 स्थानों पर नाके लगाऐगें। जाट समाज ट्रेक्टरों पर आकर शाह की रैली का विरोध करेगा। वहीं जींद में 760 और झज्जर में 200 से अधिक ट्रैक्टरों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है।

तो मुख्य विपक्षी दल इनेलो भी रैली की विरोध करने का तरीका निकाल चुका है। इनेलो ने शाह की रैली के विरोध के लिए 10,000 काले झंडें और 20,000 काले गुब्बारे भी मंगवा लिए हैं।

साथ ही भाजपा का भी दावा है कि रैली में 1 लाख बाईक शामिल होंगी। अब इन सब को देखते हुए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल भी सख्ती के मुड़ में आ गया है। राष्ट्रीय नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने याचिका दायर की है कि रैली में बाइक की संख्या को कम होनी चाहिए। 1 लाख बाईक के धुंए से प्रर्यावरण को खतरा हो सकता है।

एनजीटी ने इस मामले को लेकर केंद्र और हरियाणा सरकार को नोटिस जारी किया है। जिसके तहत हरियाणा सरकार से 13 फरवरी तक जवाब देने को कहा गया है। इन सब विवादों में शाह की रैली कितनी सफल साबित होगी यह तो देखने वाली बात होगी। लेकिन फिलहाल के लिए रैली पर विवाद अपने चरम पर है, और सरकार के यह गले की फांस बनी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *