वित्त मंत्री का विरोध करने जा रहे जाट नेताओं को लिया हिरासत में, वहीं झज्जर में विरोध से पहले ही तीन दर्जन जाट नेताओं को किया नजरबंद

Breaking चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

हिसार रोड पर टोल प्लाजा के पास एकत्रित हुए जाट नेताओं को चकमा देते हुए वित्त मंत्री दिल्ली के बजाए दूसरे रूट से हिसार पहुंच गये। टोल पर काले झंडों के साथ विरोध करने के लिये एकत्रित हुए जाट नेताओं को पुलिस ने एक होटल के बाहर हिरासत में रोके रखा व उनके मोबाईलों को जब्त कर लिया।

इसके विरोध में जाट नेताओं ने हिरासत स्थल से लेकर रामायण टोल प्लाजा तक काले झंडों के साथ पुलिस घेरे में नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। जाट नेताओं के तेवरों को देखते हुए सारा दिन पुलिस व प्रशासन की सांसे फूली रही।

बतादें की ,वित्त मंत्री अभिमन्यु के हिसार व आसपास के कई गांवों में दौरे का कार्यक्रम निर्धारित है। जिसे लेकर जाट आरक्षण आरक्षण संघर्ष समिति ने काले झंडों के साथ विरोध करने का ऐलान किया था। शनिवार सुबह से दूसरे इलाकों से जाट नेता टोल प्लाजा पर पहुंचने शुरू हो गये।

वही दूसरी ओर आरक्षण सहित समिति की विभिन्न मांगें न माने जाने से नाराज होकर पिछले दिनों जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक व समिति से जुड़े अन्य लोगों द्वारा मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सहित सरकार के जाट मंत्रियों के कार्यक्रम के दौरान उन्हें काले झंडे दिखाकर विरोध करने की चेतावनी दिए जाने के बाद समिति से जुड़े जाट नेताओं को पुलिस ने नजरबंद करना शुरू कर दिया है।

रविवार को झज्जर के साल्हावास क्षेत्र में सीएम मनोहर लाल खट्टर का कार्यक्रम है। लेकिन इससे पहले कि अपनी चेतावनी स्वरूप समिति से जुड़े जाट नेता कार्यक्रम में पहुंच कर विरोध करते उससे पहले ही पुलिस ने उन्हें नजरबंद कर दिया।

हांलाकि अधिकारिक रूप से इस बात की किसी ने पुष्टि नहीं की है,लेकिन जहां इन जाट नेताओं को नजरबंद किया गया है वहां पुलिस का कड़ा पहरा है और किसी को भी नजरबंद किए गए इन जाट नेताओं से मिलने नहीं दिया जा रहा है। हर आने-जाने वाले पर नजर रखी जा रही है।

इन जाट नेताओं को नजरबंद किए जाने के बाद कोई विरोध न हो इसके लिए चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात की गई है। पूरे मामले को संभालने के लिए स्थानीय नायब तहसीलदार जगबीर को डयूटी मजिस्ट्रेट लगाया गया है।

इसी चेतावनी को गंभीरता से लेते हुए शनिवार को सुबह ही समिति के जिलाध्यक्ष जितेन्द्र सहित करीब 19 लोगों को पुलिस द्वारा काबू कर उन्हें नजरबंद कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *