अपना घर मामले में अधिकारियों और राजनेताओं की भी हो जांच- जगमति सांगवान

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें शख्सियत सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Deepak Khokhar, Yuva Haryana

Rohtak, 27 April, 2018

अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति ने अपना घर मामले में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है।

समिति की उपाध्यक्ष जगमति सांगवान का कहना है कि दोषियों को और कड़ी सजा मिलनी चाहिए थी। साथ ही उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले में प्रशासनिक अधिकारियों व राजनेताओं की भूमिका की भी जांच होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि बेसहारा और निराश्रित बच्चों व महिलाओं के लिए भारत विकास संघ द्वारा संचालित आश्रय गृह अपना घर में यौन उत्पीड़न, मानव तस्करी, बाल श्रम, वेश्यावृति जैसे भयानक अपराध हुए थे, जिसने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था।

सांगवान ने कहा कि जो महिलाएं और बच्चे पहले से ही सामाजिक प्रताड़ना के शिकार थे, वो सुकून के लिए इस आश्रय गृह में आए थे। लेकिन यहां पर उन्हें और भी भयंकर रूप से प्रताड़ित किया गया।

जगमति सांगवान ने आरोप लगाया है कि इस पूरे मामले में प्रशासनिक अधिकारियों से लेकर मुख्यधारा की राजनीतिक पार्टियों तक के लोगों के तार जुड़े हुए थे।

जनवादी महिला समिति ने अन्य संगठनों के साथ मिलकर अपना घर संचालिका जगवंती व अन्य दोषियों को गिरफ्तार करवाने के लिए लंबा आंदोलन लड़ा था। सीबीआई स्पेशल कोर्ट का फैसला पीड़ितों और न्याय के लिए लड़ने वाले संगठनों के संघर्षों की जीत है।

इस फैसले से न्याय व्यवस्था में लोगों का विश्वास भी बढ़ेगा। संगठन ने ये भी मांग की है कि राज्य सरकार को महिलाओं व बच्चों के आश्रय घरों की दुर्दशा का संज्ञान लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आश्रय गृहों में रहने वाली महिलाओं के लिए ठोस योजना लेकर आए।

 

1 thought on “अपना घर मामले में अधिकारियों और राजनेताओं की भी हो जांच- जगमति सांगवान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *