मुख्यमंत्री के नशामुक्त हरियाणा अभियान में जींद पुलिस के डिटेक्टिव स्टाफ को मिली बड़ी कामयाबी ,कंटेनर से भारी मात्रा में किया गांजा बरामद,

Breaking चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

जीन्द की डिटेक्टिव टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर किनाना गांव के नजदीक नाकाबंदी करके कंटेनर के अदंर भारी मात्रा में भरे 386 किलोग्राम गांजा बरामद करने के साथ साथ पांच आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है । यह जानकारी आज हरियाणा पुलिस मुख्यालय के प्रवक्ता ने दी।

प्रवक्ता ने  जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किये गये आरोपियों की पहचान  जिला हिसार निवासी रमेश, गांव अशरफगढ़ जिला जींद निवासी महेन्द्र, गांव खेड़ी जालब जिला हिसार निवासी जिले सिंह, खेरड़ी जिला रोहतक निवासी आजाद व इन्द्रिा कालोनी रोहतक निवासी हिमांशु के रूप में हुई है।

गांजा का व्यापार करने वाले हाईटेक् गिरोह का मुख्य आरोपी रमेश अपने साथियों के साथ हवाई जहाज से छत्तीसगढ़ पहुंचकर वहां के डीलरों से गांजा खरीदकर यहां से कंटेनर मंगवाकर वहां से लोड करवाने के बाद स्वयं ही हवाई जहाज के द्वारा यहां पहुंच जाता था। जबकि उसके साथी कंटेनर में गांजा भरकर हरियाणा में पहुंचते थे ।

रमेश अपने साथियों के साथ बीते कईं वर्षों से इस नशे का व्यापार कर रहा था । इस बार भी रमेश ने वहां से कंटेनर में गांजा भरवाकर अपने साथियों को हरियाणा के लिए भेज दिया। जिसकी सूचना डिटेक्टिव टीम ईन्चार्ज को मिली थी। जिसने बिना कोई देरी करते हुए अपनी टीम के साथ किनाना गांव में पहुंचकर नाकाबंदी व आने जाने वाले वाहनों की विडियोग्राफी शुरू करवा दी। तभी कुछ समय बाद एक कंटेनर जुलाना की तरफ से आता दिखाई दिया जिसको रूकवाकर काबू किया।

संदेह पर डयूटी मजिस्टे्रट बुलाकर कंटेनर की तलाशी के दौरान कंटेनर के अंदर बनी खुफिया जगह से भारी मात्रा में गांजा बरामद हुआ तथा कंटेनर में चालक सहित सवार पांच आरोपियों को काबू कर लिया गया । काबू किए गए आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि इनका एक और मुख्य सरगना गांव सुलचानी जिला हिसार निवासी अनिल व गांव सिसाय जिला हिसार निवासी सुभाष भी इस व्यापार में शामिल हैं ।

इस गांजा में उनकी भी हिस्सेदारी हैं इन आरोपियों को भी जल्द ही पुलिस द्वारा काबू कर लिया जाएगा तथा प्रयोग में लाया जाने वाला कंटेनर गांव सीसर जिला रोहतक निवासी सुनील उफ काला व विकास की हैं। जो इस गाड़ी के मालिक है तथा नशीले पदार्थों की सप्लाई के लिए गाड़ी उपलब्ध करवाते हैं ।  इस सभी आरोपियों को अदालत में पेश कर रिमांड हासिल किया।

नशे का माल कहां कहां से लाकर कहां कहां सप्लाई किया जाता है  इस व्यापार में कौन कौन लोग शामिल हैं । इनमें से पकड़े गए तीन आरोपियों में रमेश के खिलाफ राजस्थान, पंजाब व हरियाणा में कुल सात मामलें दर्ज हैं। इसी प्रकार महेन्द्र पर यूपी व हरियाणा में 8 मामलें दर्ज हैं तथा जिले सिंह के खिलाफ जींद में एक मुकदमा दर्ज हैं।

हरियाणा पुलिस महानिदेशक श्री बी एस सन्धू ने पुलिस अधीक्षक जीन्द तथा  समस्त डिटेक्टिव  टीम को उपरोक्त अपराधियों को गिरफ्तार करने तथा नशीला पदार्थ पकडने के लिए बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *