खट्टर साहब बताएं, आपने नौकरी दी तो बेरोजगारी कैसे बढ़ी – दुष्यंत चौटाला

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 6 September 2019 

 

जेजेपी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि पिछले पांच सालों में हरियाणा में बेरोजगारी बहुत तेजी से बढ़ी है। बेरोजगारी के ताजे आंकड़े चौकाने वाले हैं और हरियाणा में बेरोजगारी 29 प्रतिशत तक बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी की यह दर देश में सर्वाधिक है और प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर प्रदेश के हजारों युवाओं को रोजगार देने का दावा कर रहे हैं। पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से पूछा कि यदि प्रदेश में उन्होंने हजारों युवाओं को रेाजगार दिया है तो फिर प्रदेश बेरोजगारी में अव्वल कैसे हो गया।

 

इसके साथ ही दुष्यंत चौटाला ने रोजगार को लेकर आंकड़ो जारी करने वाली संस्था द्वारा ताजा आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि हरियाणा में बेरोजगारी की दर 28.7 तक पहुंच गई है। बेरोजगारी का यह आंकड़ा देश भर में सबसे अधिक है और बाकी अन्य सभी राज्य बेरोजगारी के मामले में हरियाणा से पीछे हैं। पूर्व सांसद ने कहा है कि मुख्यमंत्री प्रदेश की जनता की आंखों में लगातार धूल झौंक रहे हैं और प्रदेश के पढ़े-लिखे युवाओं को गुमराह करने का प्रयास करते हुए उन्हें रोजी-रोटी से वंचित भी रख रहे हैं। उन्होंने कहा कि मनोहर लाल खट्टर सरकार की युवाओं विरोधी नीतियों का परिणाम है कि प्रदेश के पढ़े-लिखे युवा अपनी रोजी-रोटी कमाने के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है।

 

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने से पहले हरियाणा में प्रति वर्ष सवा लाख युवाओं को रोजगार देने का वायदा किया था परन्तु भाजपा सरकार ने पिछले पांच वर्षों में केवल कुछ ही हजार युवाओं को रोजगार दिया। उन्होंने हरियाणा सरकार के प्रदेश के 60 हजार से अधिक युवाओं को रोजगार देने के दावों को सरासर झूठ बताया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने युवाओं को रोजगार देने की बजाय स्वयं ने प्रदेश में ठेकेदारी प्रथा को बढ़ावा दिया और पहले सरकारी विभागों में नौकरी कर रहे हजारों युवाओं का रोजगार छीन लिया।  इतना ही नहीं दुष्यंत चौटाला ने बताया कि भारत देश की बेरोजगारी की दर भी बढ़कर 8.21 तक पहुंच गई है जो कि काफी चिंताजनक है।

 

उन्होंने कहा कि प्रदेश में जेजेपी की सरकार बनने पर युवाओं के रोजगार के पुख्ता प्रबंध किए जाएंगे। निजी क्षेत्र में उद्योगों में हरियाणा के युवाओं के लिए 75 प्रतिशत पद आरक्षित किए।  जाएंगे, खाली पड़े सरकारी पद बैकलॉग सहित भरे जाएंगे, शिक्षण संस्थानों में रोजगार परक पाठ्यक्रम लागू किए जाएंगे जिससे कि युवाओं को रोजी-रोटी के लिए दर-दर भटकना न पड़े।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *