अनाज मंडियों से आढ़तियों को बाहर कर अंबानी-अदानी को बैठाना चाहती है भाजपा सरकार – निशान सिंह

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 11 April, 2019

प्रदेश सरकार की ओर से गेहूं खरीद में ई-ट्रेडिंग लागू करने और वादाखिलाफी के विरोध में आढ़तियों की चल रही हड़ताल को जननायक जनता पार्टी ने समर्थन दिया है। जेजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंह ने भाजपा सरकार को छोटे व्यापारी, किसान, मजदूर समेत तमाम वर्ग की विरोधी बताते हुए कहा कि आज भाजपा सरकार को न तो छोटे व्यापारियों की परवाह और न ही किसानों की। उन्होंने कहा कि सरकार अनाज की खरीद में नई-नई शर्तें लगाकर देश के किसान व आढ़तियों को बर्बाद करने पर तुली हुई है।

जजपा प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि सरकार शुरू से ही छोटे व्यापारियों के खिलाफ रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने पहले नोटबंदी और जीएसटी लागू कर व्यापारियों की कमर तोड़ दी है और अब आढ़तियों की बिना सलाह लिए ही ई-ट्रेडिंग का तानाशाही फरमान लागू कर दिया। उन्होंने कहा कि ऐसी तमाम मांगों और सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ आढ़ती वर्ग में सरकार के प्रति रोष है।

निशान सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार चाहती है कि जैसे करियाने के कारोबार में बड़ी-बड़ी कम्पनियां आ गई हैं, वैसे ही छोटे व्यापारी भी आढ़त का काम छोड़ जाएं और मंडियों में अम्बानी, अदानी और टाटा-बिड़ला आकर कारोबार करें। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार की नीतियों की वजह से हर क्षेत्र के छोटे व्यापारी बर्बाद हुए हैं और बड़े उद्योगपतियों को फायदा पहुंचा है।

वहीं उन्होंने सरकार को किसान विरोधी बताते हुए कहा कि किसानों की आय दोगुनी करना तो दूर की बात भाजपा सरकार से किसानों की फसल तक नहीं खरीदी जा रही है। आज किसानों की फसल पक कर मंडियों में पहुंच रही है, लेकिन सरकार को इसकी बिल्कुल प्रवाह नहीं है कि हड़ताल की वजह से किसानों को तपती गर्मी में परेशानी झेलनी पड़ रही है।

उन्होंने सरकार से सवाल पूछते हुए कहा कि आखिर सरकार आढ़तियों पर तानाशाही फरमान क्यों लागू कर रही है। जबकि प्रदेशभर के आढ़ती ई-ट्रेडिंग लागू करने के विरोध में है। प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह ने आढ़तियों की हड़ताल को जायज ठहराते हुए सरकार से मांग की कि वो आढ़तियों की जायज मांगों को जल्द मानकर उनकी हड़ताल खत्म करवाए, ताकि मंडी में सुचारू रूप से किसानों की फसल खरीदी जाए।

सरसों की खरीद न होने को लेकर जेजेपी का सरकार को अल्टीमेटम –

प्रदेशभर में सरसों की सरकारी खरीद के लिए भाजपा सरकार द्वारा लगाई की विभिन्न शर्तों व न्यूनतम समर्थन मूल्य न मिलने को लेकर जननायक जनता पार्टी ने विरोध जताते हुए सरकार को अल्टीमेटम दिया है। जेजेपी के किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार रिढ़ाऊ ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर सरकार ने सरसों की सरकारी खरीद के लिए लगाई गई शर्तों को नहीं हटाया तो जेजेपी किसानों को लेकर प्रदेश भर में व्यापक स्तर पर आंदोलन करने पर मजबूर हो जाएगी।

उन्होंने मांग की कि प्रदेश सरकार बिना किसी शर्त के न्यूतनतम समर्थन मूल्य पर सरसों का एक-एक दाना खरीदे। सरसों खरीद के लिए लगाई गई शर्तों को उन्होंने तुगलकी फरमान करार दिया। उन्होंने कहा कि जननायक स्व. चौ. देवीलाल की फसल खरीद नीति से खट्टर सरकार सीख ले। जननायक स्व. चौ. देवीलाल के शासनकाल में बिना किसी शर्त के किसानों की हर फसल का एक-एक दाना खरीदा जाता था चाहे वह किसान हरियाणा का हो या अन्य किसी प्रदेश का।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *