जेजेपी ने सरकार से पूछा, फसल बीमा योजना के हजारों किसानों का क्लेम बैंकों में क्यों लटका

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 26 June, 2019

जननायक जनता पार्टी ने भाजपा सरकार की फसल बीमा योजना का किसानों को लाभ नहीं मिलने का मुद्दा उठाया है। जेजेपी ने सरकार से बीमा कंपनियों की लापरवाही के चलते हजारों किसानों का क्लेम अधर में लटकने पर सवाल करते हुए पूछा कि आखिर इस योजना के तहत सरकार किसानों की सहायता कर रही है या उनकी आफत को और बढ़ा रही है। साथ ही जजपा ने सरकार से मांग की कि अब तक फसल बीमा योजना के जरिए कितने किसानों और कितनी बीमा कंपनियों को कितना-कितना लाभ दिया है, उस पर श्वेत पत्र जारी करें।

जेजेपी किसान प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष राजकुमार रिढ़ाऊ ने कहा कि फसल बीमा योजना के नाम पर सरकार ने किसानों से मात्र छलावा किया है। उन्होंने कहा कि असलियत ये है कि आज हजारों किसानों का क्लेम बीमा कंपनियों की लापरवाही और बैंकों में एंट्री नहीं होने के कारण लटका हुआ है जबकि सरकार इस बीमा योजना का झूठा ढिंढोरा पीट रही है।

उन्होंने कहा कि असल में फसल बीमा योजना की स्थिति ये हैं कि फसल के नुकसान की पूर्ति का मरहम नहीं लगने से अन्नदाता सिर पकड़कर बैठा है और अब फसल बीमा के चंगुल से दूर भाग रहा है। उन्होंने कहा कि जब फसल में हुए नुकसान की क्षतिपूर्ति की बारी आई तो किसानों के साथ सरकार और बीमा कंपनी ने मिलकर धोखा किया।

जेजेपी किसान सैल के प्रदेशाध्यक्ष रिढ़ाऊ ने बताया कि साल 2016 से प्रदेश के पांच हजार से ज्यादा किसानों का क्लेम बैंकों में लटका हुआ है और सरकार किसानों को बार-बार बैंक और बीमा कंपनियों के धक्के खिला रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने शुरु में एक संपूर्ण बीमा योजना लाने का वादा किया था, लेकिन बदले में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना देते हुए किसानों की बजाय निजी कंपनियों को मालामाल कर दिया।

जननायक जनता पार्टी ने फसल बीमा योजना में किसानों को आ रही कई परेशानियां बताते हुए कहा कि सरकार अगर अपने आपको इतना ही पारदर्शी व किसान हितैषी बताती है तो इस योजना पर श्वेत पत्र जारी करके बताएं कि अब तक बीमा योजना के तहत कितने किसानों को कितना इसका लाभ दिया और कितना बीमा कंपनियों को लाभ पहुंचाया गया।

साथ ही राजकुमार रिढ़ाऊ ने कहा कि प्रदेश में जजपा की सरकार आते ही सबसे पहले इस योजना के तहत की गई धांधलियों की उच्च स्तरीय जांच करवाई जाएगी और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए पीड़ित किसानों को न्याय दिलाया जाएगा। वहीं इस योजना का सरलीकरण करके बीमा कंपनियों की बजाय सही तरीके से किसानों को आसानी के साथ इसका लाभ पहुंचाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि चौ. देवीलाल की नीतियों पर चलने वाली जजपा की सरकार आने पर किसानों का सहकारी बैंकों का पूरा कर्जा माफ, फसलों के दामों पर 10 प्रतिशत या 100 रूपए की दर से अतिरिक्त बोनस, फसल को समर्थन मूल्य से कम दर पर खरीदने को अपराध घोषित कर ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई का प्रावधान, खेती के लिए बिना देरी किए बिना पैसे के ट्यूबवेल कनेक्शन आदि ऐसे कल्याणकारी कदम किसानों के हित में उठाए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *