जूट के गोदाम में आग लगने से करोड़ो का जूट जलकर राख, चौंकाने वाली है आग लगने की वजह

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Indervesh Duhan, Yuva Haryana

Bhiwani,13-05-2018

फसलों के अवशेष जलाने को लेकर प्रदेश सरकार भले ही लाख कानून बना लें, लेकिन किसान मानने को तैयार नहीं। फसलों के अवशेष जलने का न केवल वातावरण, बल्कि अन्य प्रकार से भी नुकसान होते हैं। नुकसान का ऐसा ही एक मामला भिवानी में सामने आया है।

जहां भिवानी के गांव लोहानी के पास दिशा जूट कंपनी में देखते ही देखते जूट कंपनी का गोदाम जल गया।तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद भी फायर बिग्रेड ने 8 गाडिय़ां आग को पूरी तरह से नहीं बुझा पाई थी।

आपको बता दें कि  दिशा जूट मील के गोदाम में करोड़ों रूपयों का जूट रखा हुआ था। साथ लगते खेत में किसानों द्वारा फसलों के अवशेष जलाने के कारण जूट के गोदाम में रखे जूट तक चिंगारी पहुंचने से गोदाम में आग लग गई।

जिसके बाद आग जूट के एक गोदाम से होती हुई, सभी सातों गोदामों तक पहुंच गई। जिसके बाद फायर बिग्रेड की गाडिय़ों को बुलाया गया, लेकिन अभी तक भी आग पर काबू नहीं पाया जा सका था।

जूट कंपनी के मालिक अनिश कुमार का कहना था कि उन्होंने यहां जूट का गोदाम बनाया हुआ था और आग के प्रबंधन के लिए अंडर ग्राऊंड व छतों पर पानी की टंकियां बनाई हुई थी। लेकिन तेज हवा और 44 डिग्री के लगभग तापमान के चलते आग तुरंत फैल गई। जिसे काबू करने के लिए फायर बिग्रेड को बुलाया गया।

कंपनी के दो दर्जन के लगभग कर्मचारियों व फायर बिग्रेड की 8 गाडिय़ों के प्रयासों के बाद भी आग पर काबू नहीं पाया जा सका। उन्होंने बताया कि सभी गोदामों में जूट भरा हुआ था। ऐसे में उन्हे करोड़ों रूपयों का नुकसान हुआ है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *