कैथल के क्योड़क गांव का अपना एक रिकॉर्ड, 4 दिनों में होंगी 53 शादियां, 5 साल पहले का टूटेगा रिकॉर्ड

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा विशेष

सीएम मनोहर लाल खट्टर के गोद लिए गांव क्योड़क में इन दिनों खुशी का माहौल है। हर घर से या तो कोई बराती बन रहा है या घराती। कारण जान आप भी खुश होंगे कि यहां चार दिनों में 53 शादियां होंगी। गांव में 40 बेटियों की बरात आएगी और 13 लड़के दुल्हन लाएंगे। सोमवार को ही 28 शादियां होनी हैं, जो गांव के लिए रिकॉर्ड भी है। 5 साल पहले इसी गांव में तीन दिन में 29 शादियां हुई थी।

सबसे ज्यादा दिलचस्प बात ये है कि गांव के लोग आपसी सहयोग से 40 लाख रुपए की बचत करेंगे। तो वहीं रात के ठहराने, खाने व रिश्तेदारों की व्यवस्था के लिए गांव की 20 चौपालें, 12 मंदिर, 11 स्कूल और निजी जगहों का सिलेक्शन किया गया है। इन्हीं जगहों पर टेंट लगाए जाएंगे।

मिठाई बनाने के लिए गांव वाले एक-दूसरे के घर दूध पहुंचा रहे हैं। दूध, खाट-बिस्तर समेत अन्य आपसी सहयोग से सभी शादियों में करीब 40 लाख रुपए की बचत होने का अनुमान है। क्योड़क गांव की धुम्मन पट्टी में सबसे ज्यादा 16 तो गुलाब पट्टी में 7 शादियां होंगी। सबसे अच्छी पहल ये है कि लड़के के रोके के समय सिर्फ एक रुपए लेते हैं। यदि लड़की वाले ज्यादा दें तो बुजुर्ग हाथ जोड़कर लौटा देते हैं।

सगाई से शादी होने तक रिश्तेदारों की मिलाई बंद की है। एक-एक कुनबे में 100-100 मिलाई होने लगीं थी। लड़के की सगाई, शादी व रिसेप्शन में शगुन नहीं लेते। लड़की की शादी में सहयोग स्वरूप कन्यादान देते हैं।

सबसे गजब बात इन सब ये है कि गांव के रहने वाले राजपाल के पास 38 कार्ड आए हैं।
बता दें कि क्योड़क गुर्जर बाहुल इलाका है। इसमें 11,340 वोटर हैं और करीब 20 हजार की आबादी। 63 फीसदी लोग गुर्जर समाज के हैं। 10 फीसदी ब्राह्मण, 7% जांगड़ा समेत गांव में 18 जातियों के लोग रहते हैं। लेकिन तब भी कार्यक्रमों में जातिगत भेदभाव नहीं रहता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *