पांचों सीटों पर खिलेगा कमल: मनोहर लाल

चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सिरसा चौटाला परिवार का कभी गढ़ होता था लेकिन अब तितर-बितर होकर बिखर गया है। ऐलनाबाद में केवल एक ही बंदा टिका है। उन्होंने कहा कि सिरसा में पहली बार सभी सीटों पर कमल का फूल खिलेगा। सिरसा क्षेत्र की समस्याओं को दूर किया जाएगा। कलांवाली मंडी की सभी तकलीफों को दूर करवाया जाएगा। यह बात मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने रविवार को कालांवाली विधानसभा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी बलकौर सिंह के समर्थन में आयोजित चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। सीएम ने कहा कि एक के पास सच है और दूसरे के पास झूठ। एक तरफ न्याय और एक तरफ अन्याय, एक तरफ ईमानदारी और दूसरी तरफ बेईमानी है। अब ये आपको तय करना है कि आपको किसका साथ देना है। सरकार के पांच वर्ष के कार्यकाल को आप देख चुके हैं। पांच साल सरकार भाजपा ने पूरी पारदर्शिता से चलाई है। इसीलिए छह माह पहले ही लोगों ने कहना शुरू कर दिया था कि प्रदेश में अगली सरकार भाजपा की बनेगी।
उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि जब 2014 में पहला सत्र था, तो उन्होंने घोषणा की थी कि हरियाणा प्रदेश की 90 विधानसभा क्षेत्रों के विधायक पांच-पांच करोड़ रुपये के काम बता दें, सबके काम करवाए जाएंगे। चाहे वो इनेलो, कांग्रेस या फिर निर्दलीय है। यह 450 करोड़ रुपये की उनकी पहली घोषणा थी। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने यह घोषणा की तो भाजपा सरकार के ही लोग कहने लगे कि आपने ऐसा क्यों किया। सरकार तो उन्होंने बनाई है लेकिन पैसे सबको बांटे गए हैं। विपक्ष ने भी कहा कि जिन्होंने सरकार बनाई है, आपको उनको ही रुपये देने थे। ऐसे में आप बहुत ज्यादा काम नहीं कर पाओगे और छह माह में ही आपकी छुट्टी हो जाएगी। तब उन्होंने कहा कि सरकार तो भाजपा कार्यकर्ताओं, नेताओं ने मिल कर बनाई है। लेकिन जब सरकार बन जाती है तो यह केवल भाजपा की नहीं बल्कि सबकी है। इसलिए यह पैसा भी सबको जाएगा।

पढ़ी- लिखी पंचायत पर कांग्रेसी नाराज
उन्होंने कहा कि अन्य पार्टियां केवल अपनों के लिए करती है। लेकिन भाजपा हरियाणा प्रदेश के लिए करती है। पिछली सरकारों से अलग होकर बढ़ कर काम किया है। राजनीति के मायने बदल कर रख दिए हैं। नौकरियां मिलेंगी तो मैरिट के आधार पर मिलेंगी। चुन-चुन कर किसी को नौकरी नहीं दी जाएगी। यही काम पंचायतों के लिए किया गया और पढ़े लिखे लोगों को ही पंचायत में लेकर आए। इसका फायदा आमजन को मिला और पढ़ी- लिखी पंचायत मिली। विरोधियों को भी यह रास नहीं आया है। कांग्रेस पार्टी तो यह कहती है कि अगर आ गए तो पढ़े लिखे सिस्टम को खत्म कर देंगे। ये लोग उल्टा खूंटा गाडने वाले लोग हैं। उन्होंने कहा कि वो ईमानदार लोगों को ही अपने साथ लेकर चलेंगे।

एसवाईएल का पानी, जरूर मिलेगा
मुख्यमंत्री ने कहा कि अकाली दल वाले भी उनके पास आए और समझौता करने की बात कही। उन्होंने स्पष्ट कहा कि वो एसवाईएल का पानी हरियाणा को दे दें, वो एक नहीं, दो-तीन सीटें मुफ्त में दे देंगे। उन्हें किसानों की चिंता है और किसान को पानी की ज्यादा आवश्यकता है, इसलिए एसवाईएल का पानी पूरे हरियाणा की जरूरत है। उन्होंने किसानों के हित को देखा इसीलिए अकाली दल से समझौते से साफ इंकार किया। उनके लिए उनका किसान प्यारा है। वो आज भी कहते हैं कि अकाली दल वाले आज यह घोषणा कर दें कि एसवाईएल में कोई रोडा नहीं अटकाएंगे। इसकी एवज में कालांवली को छोड़ कर कोई भी जगह बता दें वो वहां से भाजपा के प्रत्याशी को वापस कर लेंगे। उन्होंने कहा कि क्षेत्र से नशा खोरी को दूर करना ही उनका लक्ष्य है। सभी प्रदेशों को साथ लेकर चले और पंचकूला में नशाखोरी को रोकने के लिए मुख्यालय बनाया गया है। सरकार ने प्रदेश को प्रगति पथ पर ले जाने के लिए अनेक कार्य किए हैं। आने वाली सरकार में भी करोड़ों के कार्य करवाए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *